Sunday, March 24, 2019

Breaking News

    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||

एसएससी विवाद में सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका दायर, अदालत ने केन्द्र से मांगा जवाब

अंग्वाल न्यूज डेस्क
एसएससी विवाद में सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका दायर, अदालत ने केन्द्र से मांगा जवाब

नई दिल्ली। कर्मचारी चयन आयोग(एसएससी) विवाद सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच चुका है। एक जनहित याचिका को स्वीकार करते हुए कोर्ट ने केन्द्र सरकार से इस मामले में जवाब मांगा है। कोर्ट ने अगले सप्ताह सरकारी कानूनी अधिकारियों को कोर्ट में तलब किया है। सुप्रीम कोर्ट द्वारा याचिका को स्वीकार करने के बाद आंदोलन कर रहे छात्रों में थोड़ी उम्मीद जगी है। बता दें कि एसएससी परीक्षा में हुई धांधली को लेकर छात्र एसएससी के लोधी रोड स्थित कार्यालय के बाहर प्रदर्शन कर रहे हैं। छात्रों की मांग है कि मामले की सीबीआई जांच कराई जाए। 

ये भी पढ़ें - मुख्य सचिव मारपीट मामले में ‘आप’ को राहत, कोर्ट ने अमानतुल्ला को जमानत पर किया रिहा


यहां गौर करने वाली बात है कि छात्रों का आरोप है कि ग्रेजुएट लेवल परीक्षा के साथ-साथ एसएससी द्वारा आयोजित सभी परीक्षाओं में गड़बड़ी हुई है। परीक्षार्थियों का कहना है कि उन्हें सभी परीक्षाओं को लेकर संदेह है और इसकी स्वतंत्र जांच होनी चाहिए। प्रदर्शन करने पहुंचे छात्र व्हाट्सएप पर वायरल हुए लीक पेपर के स्क्रीनशॉट के साथ प्रदर्शन कर रहे थे। प्रदर्शन कर रहे एक छात्र ने कहा कि परीक्षा के दौरान उनके जूते तक उतरवा लिए जाते हैं। ऐसे में ऑनलाइन प्रश्न पत्र का लीक होना, अधिकारियों के भ्रष्टाचार में लिप्त होने का इशारा कर रहा है। 

Todays Beets: