Sunday, December 16, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

मंदिर के बाहर भीख मांग रहे रूसी युवक के लिए सुषमा बनी देवदूत, ऐसे की मदद 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मंदिर के बाहर भीख मांग रहे रूसी युवक के लिए सुषमा बनी देवदूत, ऐसे की मदद 

चेन्नई। मुसीबत में फंसे रूसी पर्यटक के लिए भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज किसी देवदूत से कम साबित नहीं हुईं। भारत की सैर पर आए रूस के इवेंगलिन 25 सितंबर को चेन्नई पहुंचे थे। थोड़ा भ्रमण करने के बाद जब वे एटीएम से पैसे निकालने पहुंचे तो गलत पिन डालने की वजह से कार्ड ब्लाॅक हो गया। पैसे के अभाव में उन्हें चेन्नई के एक मंदिर के बाहर भीख मांगने पर मजबूर होना पड़ा। मामले का पता चलते ही विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्विट किया, ‘इवेंगलिन आपका देश हमारे देश का परखा हुआ मित्र है, और हमारे अधिकारी आपकी हर संभव मदद करेंगे। 

मंदिर के बाहर भीख मांगता रूसी युवक

गौरतलब है कि पहले तो तमिलनाडू में एक विदेशी युवक को मंदिर के बाहर भीख मांगता देखकर लोगों को आश्चर्य हुआ। उन्होंने इसकी सूचना पुलिस को दी, पुलिस ने मामले की जांच की तो युवक की परेशानी को सही पाया। उसने पुलिस को बताया कि वह घूमने आया था लेकिन एटीएम कार्ड ब्लाॅक हो गया। पुलिस ने युवक के दस्तावेजों की जांच की तो पाया कि उसका वीजा अगले महीने तक का है। 


 

ये भी पढ़ें -घाटी में दो 'देशद्रोही' पुलिस कॉस्टेंबल गिरफ्तार, हिजबुल आतंकियों को सप्लाई करते थे हथियार

पहले भी की मदद

आपको बता दें कि घटना के बारे में पता चलने के बाद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने चेन्नई में अधिकारियों को रूसी पर्यटक की मदद करने के निर्देश दिए। इसके बाद पुलिस ने उसे थाने ले जाकर कुछ पैसे दिए ताकि वह चेन्नई पहुंच सके और रूसी वाणिज्य दूतावास से संपर्क कर सके। यहां यह भी बता दें कि यह पहला मौका नहीं है जब सुषमा स्वराज ने किसी विदेशी नागरिक की मदद की है इससे पहले भी वे कई लोगों की मदद कर चुकी हैं जिसकी वजह से उनकी काफी तारीफ हुई है।   

Todays Beets: