Friday, August 17, 2018

Breaking News

   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||

मंदिर के बाहर भीख मांग रहे रूसी युवक के लिए सुषमा बनी देवदूत, ऐसे की मदद 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मंदिर के बाहर भीख मांग रहे रूसी युवक के लिए सुषमा बनी देवदूत, ऐसे की मदद 

चेन्नई। मुसीबत में फंसे रूसी पर्यटक के लिए भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज किसी देवदूत से कम साबित नहीं हुईं। भारत की सैर पर आए रूस के इवेंगलिन 25 सितंबर को चेन्नई पहुंचे थे। थोड़ा भ्रमण करने के बाद जब वे एटीएम से पैसे निकालने पहुंचे तो गलत पिन डालने की वजह से कार्ड ब्लाॅक हो गया। पैसे के अभाव में उन्हें चेन्नई के एक मंदिर के बाहर भीख मांगने पर मजबूर होना पड़ा। मामले का पता चलते ही विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्विट किया, ‘इवेंगलिन आपका देश हमारे देश का परखा हुआ मित्र है, और हमारे अधिकारी आपकी हर संभव मदद करेंगे। 

मंदिर के बाहर भीख मांगता रूसी युवक

गौरतलब है कि पहले तो तमिलनाडू में एक विदेशी युवक को मंदिर के बाहर भीख मांगता देखकर लोगों को आश्चर्य हुआ। उन्होंने इसकी सूचना पुलिस को दी, पुलिस ने मामले की जांच की तो युवक की परेशानी को सही पाया। उसने पुलिस को बताया कि वह घूमने आया था लेकिन एटीएम कार्ड ब्लाॅक हो गया। पुलिस ने युवक के दस्तावेजों की जांच की तो पाया कि उसका वीजा अगले महीने तक का है। 


 

ये भी पढ़ें -घाटी में दो 'देशद्रोही' पुलिस कॉस्टेंबल गिरफ्तार, हिजबुल आतंकियों को सप्लाई करते थे हथियार

पहले भी की मदद

आपको बता दें कि घटना के बारे में पता चलने के बाद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने चेन्नई में अधिकारियों को रूसी पर्यटक की मदद करने के निर्देश दिए। इसके बाद पुलिस ने उसे थाने ले जाकर कुछ पैसे दिए ताकि वह चेन्नई पहुंच सके और रूसी वाणिज्य दूतावास से संपर्क कर सके। यहां यह भी बता दें कि यह पहला मौका नहीं है जब सुषमा स्वराज ने किसी विदेशी नागरिक की मदद की है इससे पहले भी वे कई लोगों की मदद कर चुकी हैं जिसकी वजह से उनकी काफी तारीफ हुई है।   

Todays Beets: