Thursday, December 13, 2018

Breaking News

   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||    दिल्ली: TDP नेता वाईएस चौधरी को HC से राहत, गिरफ्तारी पर रोक     ||    पूर्व क्रिकेटर अजहर तेलंगाना कांग्रेस समिति के कार्यकारी अध्यक्ष बनाए गए     ||   किसानों को कांग्रेस ने मजबूर और बीजेपी ने मजबूत बनाया: PM मोदी     ||

एक बार फिर तालिबान के हमले से दहला अफगानिस्तान, 15 सुरक्षाकर्मियों की मौत, कई जख्मी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
एक बार फिर तालिबान के हमले से दहला अफगानिस्तान, 15 सुरक्षाकर्मियों की मौत, कई जख्मी

नई दिल्ली। तालिबान आतंकियों द्वारा एक बार फिर से सोमवार को अफगानिस्तान में हमला कर दिया गया। इस हमले में फिलहाल 15 सुरक्षाकर्मियों की मौत होने के साथ ही कई लोगों के जख्मी होने की खबर है। खबरों के अनुसार तालिबान आतंकियों ने अफगानिस्तान के कुंडुस प्रांत के जलालाबाद स्थित शिक्षा विभाग के कार्यालय पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसानी शुरू कर दी। वहीं एक अन्य घटना में नांगनहार इलाके में बम धमाके की भी खबर मिली है। पुलिस की सूचना के अनुसार वहां से फिलहाल किसी के हताहत होने की खबर नहीं मिली है। 

गौरतलब है कि इससे पहले भी काबुल में शांति प्रयासों को बढ़ावा देने वाले उलेमाओं और मौलवियों की बैठक को निशाना बनाते हुए शिया मस्जिद के बाहर धमाका किया गया था। यहां गौर करने वाली बात है कि अफगानिस्तान में आतंकियों द्वारा सुरक्षाबलों को लगातार निशाना बनाया जाता रहा है। शनिवार (9 जून) को तालिबान ने अफगानिस्तान के कुंदुज प्रांत में एक आर्मी बेस पर किए गए हमले में 19 सुरक्षाकर्मी मारे गए थे। हमला तालिबान की तरफ से सीजफायर की घोषणा के कुछ घंटे के बाद किया गया था। 


ये भी पढ़ें - पत्थरबाजों के केस वापस लेने वाले मामले पर भाजपा सांसद का बड़ा बयान, कहा- गोली मार देनी चाहिए

यहां बता दें कि तालिबान ने अफगानिस्तान सैनिकों के साथ मिलकर ईद के दौरान 3 दिनों के संघर्षविराम की घोषणा की थी। इससे 2 दिन पहले ही अफगानिस्तान ने अप्रत्याशित रूप से तालिबान के खिलाफ एक सप्ताह तक कार्रवाई रोकने की एकतरफा घोषणा की थी। राष्ट्रपति अशरफ गनी ने भी ट्वीट कर सीजफायर की पुष्टि की थी। 

Todays Beets: