Saturday, May 25, 2019

Breaking News

   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||

बड़ा खुलासा - खास एप पर चैटिंग करके रची गई पुलवामा हमले की साजिश , NIA - FBI मिलकर करेंगी जांच

अंग्वाल न्यूज डेस्क
बड़ा खुलासा - खास एप पर चैटिंग करके रची गई पुलवामा हमले की साजिश , NIA - FBI मिलकर करेंगी जांच

नई दिल्ली । जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद त्राल में सुरक्षा बलों ने इस आतंकी वारदात के मास्टरमाइंड मुदस्सिर खान को ढेर कर दिया। जैश ए मोहम्मद का सेकेंड कमांडर मुदस्सिर अहमद को मुठभेड़ में मार गिराने के बाद राष्ट्रीय जांच एजेंसी के हाथ कुछ बड़े सबूत लगे हैं। खुलासा हुआ है कि मुदस्सिर ने ही पुलवामा के आत्मघाती हमलावर को गाड़ी और विस्फोटक मुहैया करवाया था। इतना ही नहीं मुदस्सिर इस वारदार को अंजाम देने की साजिश रचने के दौरान पाकिस्तान में बैठे अपने आकाओं से एक खास एप पर चैटिंग किया करता था। इस चैटिंग का डाटा भी एनआईए के हाथ लगा है। अब इस पूरे मामले में एनआईए अमेरिका एजेंसी FBI के साथ मिलकर इस मामले में जांच को आगे बढ़ाएगी।

बता दें कि पुलवामा में आतंकी हमले को अंजाम देने वाले एक मुख्य साजिशकर्ता को सुरक्षा बल पहले ही ढेर कर चुके थे। इसके बाद मिली एक गुप्त सूचना के आधार पर सीआरपीएफ , सेना और जम्मू कश्मीर पुलिस की संयुक्त टीमों ने इस हमले के मास्टरमाइंड मुदस्सिर खान को भी एक मुठभेड़ में ढेर कर दिया। इस दौरान NIA को मामले की जांच के दौरान कुछ सबूत मिले हैं। मसलन , इस साजिश को रचने के दौरान मुदस्सिर पाकिस्तान में लगातार अपने जैश आकाओं के संपर्क में था। वह किसी फोन के जरिए नहीं बल्कि एक विशेष एप के जरिए पाकिस्तान में बैठे जैश प्रमुख मसूद अजहर के संपर्क में था।


इस मामले में अब भारतीय जांच एजेंसी ने अमेरिकी जांच एजेंसी फेडरल ब्यूरों ऑफ इंवेस्टिगेशन (एफबीआई ) की मदद लेगा । दोनों जांच एजेंसियां घाटी में मौजूद आतंकियों और पाकिस्तान में बैठे जैश और लश्कर के आतंकियों के बीच संपर्क के तार को खोजने और उनकी काट करने के लिए कार्रवाई करेंगी।

 

Todays Beets: