Monday, September 24, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

घाटी में दो 'देशद्रोही' पुलिस कॉस्टेंबल गिरफ्तार, हिजबुल आतंकियों को सप्लाई करते थे हथियार

अंग्वाल न्यूज डेस्क
घाटी में दो

श्रीनगर । जहां एक ओर सीमा पर देश के वीर जवान अपनी जान की परवाह न करते हुए देश के दुश्मनों से लड़ रहे हैं, वहीं हमारी पुलिस में 'जयचंद' जैसे कुछ गद्दारों का चेहरा भी उजागर हुआ है। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने शोपिंया से ऐसे ही पुलिस के ऐसे दो जवानों को गिरप्तार किया है, जो हिजबुल मुजाहिद्दीन जैसे आतंकी संगठनों के आतंकियों को हथियार सप्लाई करते थे। 9 अक्तूबर को घाटी में आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई के दौरान यह बात सामने आई थी। हालांकि सेना की ओर से अभी इस बात का खुलासा नहीं किया गया है कि पुलिस के जवान ये हथियार कहां से लाते थे। क्या ये वही हथियार थे जो पुलिस कार्रवाई के दौरान आतंकियों के पास से बरामद किया जाता था। 

ये भी पढ़ें- सेना के ऑपरेशन 'क्लीन स्वीप' के तहत 4 आतंकियों को किया ढेर, 2 जवान घायल

जानकारी के अनुसार, 9 अक्तूबर को सेना ने आतंकियों के खिलाफ एक अभियान में कुछ आतंकियों को घेर लिया। इन आतंकियों पर कार्रवाई के दौरान पुलिस को सूचना मिली की हिजबुल के इन आतंकियों को पुलिस के ही दो जवान हथियार मुहैया करवा रहे थे। इस बात का खुलासा होने पर इन जवानों की तलाश की गई और अब पुलिस में कॉंस्टेबल के पद पर तैनात इन लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। 


ये भी पढ़ें- अरुणाचल में सेना के कैंप पर उग्रवादियों का हमला, कैंप पर ग्रेनेड दागने के साथ की गोलाबारी

सूत्रों के अनुसार, अब इन जवानों से पूछताछ की जा रही है कि इन्होंने कितने हथियार हिजबुल के आतंकियों को सप्लाई किए हैं। ये हथियार कहां से लाते थे और किस तरह इन आतंकियों तक पहुंचाते थे। इतना ही नहीं इस सब के बदले आतंकी संगठन इन्हें क्या देते थे। क्या ये सेना से जुड़ी जानकारियां भी इन आतंकियों तक पहुंचाने का काम करते थे। अभी इन को गिरफ्तार कर इनसे पूछताछ जारी है।

Todays Beets: