Friday, December 15, 2017

Breaking News

   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद     ||   अश्विन ने लगाया विकेटों का सबसे तेज 'तिहरा शतक', लिली को छोड़ा पीछे     ||   पूरा हुआ सपना चौधरी का 'सपना', बेघर होने के साथ बॉलीवुड से मिला बड़ा ऑफर    ||   PAK सरकार ने शर्तें मानीं, प्रदर्शन खत्म करने कानून मंत्री को देना पड़ा इस्तीफा    ||   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||

घाटी में दो 'देशद्रोही' पुलिस कॉस्टेंबल गिरफ्तार, हिजबुल आतंकियों को सप्लाई करते थे हथियार

अंग्वाल न्यूज डेस्क
घाटी में दो

श्रीनगर । जहां एक ओर सीमा पर देश के वीर जवान अपनी जान की परवाह न करते हुए देश के दुश्मनों से लड़ रहे हैं, वहीं हमारी पुलिस में 'जयचंद' जैसे कुछ गद्दारों का चेहरा भी उजागर हुआ है। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने शोपिंया से ऐसे ही पुलिस के ऐसे दो जवानों को गिरप्तार किया है, जो हिजबुल मुजाहिद्दीन जैसे आतंकी संगठनों के आतंकियों को हथियार सप्लाई करते थे। 9 अक्तूबर को घाटी में आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई के दौरान यह बात सामने आई थी। हालांकि सेना की ओर से अभी इस बात का खुलासा नहीं किया गया है कि पुलिस के जवान ये हथियार कहां से लाते थे। क्या ये वही हथियार थे जो पुलिस कार्रवाई के दौरान आतंकियों के पास से बरामद किया जाता था। 

ये भी पढ़ें- सेना के ऑपरेशन 'क्लीन स्वीप' के तहत 4 आतंकियों को किया ढेर, 2 जवान घायल

जानकारी के अनुसार, 9 अक्तूबर को सेना ने आतंकियों के खिलाफ एक अभियान में कुछ आतंकियों को घेर लिया। इन आतंकियों पर कार्रवाई के दौरान पुलिस को सूचना मिली की हिजबुल के इन आतंकियों को पुलिस के ही दो जवान हथियार मुहैया करवा रहे थे। इस बात का खुलासा होने पर इन जवानों की तलाश की गई और अब पुलिस में कॉंस्टेबल के पद पर तैनात इन लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। 


ये भी पढ़ें- अरुणाचल में सेना के कैंप पर उग्रवादियों का हमला, कैंप पर ग्रेनेड दागने के साथ की गोलाबारी

सूत्रों के अनुसार, अब इन जवानों से पूछताछ की जा रही है कि इन्होंने कितने हथियार हिजबुल के आतंकियों को सप्लाई किए हैं। ये हथियार कहां से लाते थे और किस तरह इन आतंकियों तक पहुंचाते थे। इतना ही नहीं इस सब के बदले आतंकी संगठन इन्हें क्या देते थे। क्या ये सेना से जुड़ी जानकारियां भी इन आतंकियों तक पहुंचाने का काम करते थे। अभी इन को गिरफ्तार कर इनसे पूछताछ जारी है।

Todays Beets: