Friday, June 22, 2018

Breaking News

   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||   टेस्ट में भारत की सबसे बड़ी जीत: अफगानिस्तान को एक दिन में 2 बार ऑलआउट किया, डेब्यू टेस्ट 2 दिन में खत्म     ||   पेशावर स्कूल हमले का मास्टरमाइंड और मलाला पर गोली चलवाने वाला आतंकी फजलुल्लाह मारा गया: रिपोर्ट     ||   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||

घाटी में दो 'देशद्रोही' पुलिस कॉस्टेंबल गिरफ्तार, हिजबुल आतंकियों को सप्लाई करते थे हथियार

अंग्वाल न्यूज डेस्क
घाटी में दो

श्रीनगर । जहां एक ओर सीमा पर देश के वीर जवान अपनी जान की परवाह न करते हुए देश के दुश्मनों से लड़ रहे हैं, वहीं हमारी पुलिस में 'जयचंद' जैसे कुछ गद्दारों का चेहरा भी उजागर हुआ है। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने शोपिंया से ऐसे ही पुलिस के ऐसे दो जवानों को गिरप्तार किया है, जो हिजबुल मुजाहिद्दीन जैसे आतंकी संगठनों के आतंकियों को हथियार सप्लाई करते थे। 9 अक्तूबर को घाटी में आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई के दौरान यह बात सामने आई थी। हालांकि सेना की ओर से अभी इस बात का खुलासा नहीं किया गया है कि पुलिस के जवान ये हथियार कहां से लाते थे। क्या ये वही हथियार थे जो पुलिस कार्रवाई के दौरान आतंकियों के पास से बरामद किया जाता था। 

ये भी पढ़ें- सेना के ऑपरेशन 'क्लीन स्वीप' के तहत 4 आतंकियों को किया ढेर, 2 जवान घायल

जानकारी के अनुसार, 9 अक्तूबर को सेना ने आतंकियों के खिलाफ एक अभियान में कुछ आतंकियों को घेर लिया। इन आतंकियों पर कार्रवाई के दौरान पुलिस को सूचना मिली की हिजबुल के इन आतंकियों को पुलिस के ही दो जवान हथियार मुहैया करवा रहे थे। इस बात का खुलासा होने पर इन जवानों की तलाश की गई और अब पुलिस में कॉंस्टेबल के पद पर तैनात इन लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। 


ये भी पढ़ें- अरुणाचल में सेना के कैंप पर उग्रवादियों का हमला, कैंप पर ग्रेनेड दागने के साथ की गोलाबारी

सूत्रों के अनुसार, अब इन जवानों से पूछताछ की जा रही है कि इन्होंने कितने हथियार हिजबुल के आतंकियों को सप्लाई किए हैं। ये हथियार कहां से लाते थे और किस तरह इन आतंकियों तक पहुंचाते थे। इतना ही नहीं इस सब के बदले आतंकी संगठन इन्हें क्या देते थे। क्या ये सेना से जुड़ी जानकारियां भी इन आतंकियों तक पहुंचाने का काम करते थे। अभी इन को गिरफ्तार कर इनसे पूछताछ जारी है।

Todays Beets: