Wednesday, April 24, 2019

Breaking News

   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||

राहुल मंदिर में पूजा करते रहे, अमित शाह ने गोवा में बदल दिया खेल , कांग्रेस के 2 विधायक बने भाजपाई

अंग्वाल न्यूज डेस्क
राहुल मंदिर में पूजा करते रहे, अमित शाह ने गोवा में बदल दिया खेल , कांग्रेस के 2 विधायक बने भाजपाई

नई दिल्ली । एक ओर जहां कांग्रेस अध्यक्ष मध्य प्रदेश में मंदिरों के दर्शन कर रहे थे वहां गोवा कांग्रेस के दो विधायकों ने मंगलवार को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात की। इसके बाद उन्होंने ऐलान कर दिया कि वो कांग्रेस का हाथ छोड़कर भाजपा का कमल थाम रहे हैं। दोनों नेताओं के भाजपा में आने से कांग्रेस को गोवा में सबसे बड़े दल होने का जो गौरव हासिल हुआ था वो तमगा अब कांग्रेस के पास नहीं रहा। कांग्रेस विधायक दयानंद सोपते और सुभाष शिरोदकर ने अमित शाह से मुलाकात के बाद गोवा विधानसभा के स्पीकर को अपना इस्तीफा सौंप दिया। इन दो विधायकों के इस्तीफे के साथ ही एक बार फिर से गोवा में भाजपा की सरकार पर मंडरा रहे संकट के बादल भी दूर हो गए हैं।

दोनों कांग्रेसी अब हुए भाजपाई 

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी मध्य प्रदेश में चुनावों की तैयारियों के मद्देनजर वहां मंदिरों - मस्जिदों में जा रहे हैं, वहीं तेजी से बदलते घटनाक्रम में एक समय गोवा में भाजपा के लिए चुनौती बनती दिख रही कांग्रेस का पासा उनके ही विधायकों ने पलट दिया। मंगलवार सुबह कांग्रेस विधायक दयानंद सोपते और सुभाष शिरोदकर ने अमित शाह से मुलाकात की। इसके बाद उन्होंने भाजपा में शामिल होने की बात कही और गोवा स्पीकर को अपना इस्तीफा सौंप दिया। इस्तीफा स्वीकार होते ही अब उनकी भाजपा में नई पारी शुरू हो गई।

कुछ और टूटकर आ सकते हैं भाजपा में 


सूत्रों का कहना है कि अभी मात्र 2 विधायक ही टूटकर भाजपा में आए हैं, लेकिन आने वाले दिनों में 1-2 विधायक और हैं जो भाजपा का कमल थाम सकते हैं। इस सब पर गोवा कांग्रेस के प्रभारी का कहना था कि दोनों विधायकों ने उन्हें भरोसा दिया है कि वह पार्टी विरोधी कोई काम नहीं करेंगे। लेकिन अब विधायकों का ये फैसला दर्शाता है कि उन्होंने अपनी पार्टी का साथ छोड़ने का मन बना ही लिया है। 

जानिए विधायकों का गणित

बता दें कि गोवा में कुल 40 विधानसभा सीटें हैं । जहां बहुमत के लिए 21 सीटों का समर्थन चाहिए होता है। भाजपा के पास अभी तक 23 विधायकों का समर्थन था, जबकि कांग्रेस के पास कुल 16 विधायक थे। वहीं एनडीए  के 23 में भाजपा  के 14, गोवा फारवार्ड पार्टी तथा महाराष्ट्र गोमांतक पार्टी के 3-3 विधायक और 3 निर्दलीय विधायक हैं। वहीं अब कांग्रेस के 2 विधायक इस्तीफा दे चुके हैं। यानी अब विधानसभा में कुल विधायकों की संख्या 38 हो गई है और बहुमत के लिए 21 नहीं 20 की संख्या की जरूरत है। कांग्रेस के पास अब कुल 14 विधायक ही बचे हैं। 

Todays Beets: