Saturday, April 21, 2018

Breaking News

   मायावती का पलटवार, कहा- सत्ता के अहंकार में जनता को मूर्ख समझ रही BJP; शाह के गुरू मोदी ने गिराया पार्टी का स्तर     ||   चीन के स्‍पर्म बैंक ने रखी अनोखी शर्त, सिर्फ कम्‍युनिस्‍टों का समर्थन करने वाले ही दान कर सकेंगे स्‍पर्म     ||   CBSE पेपर लीक: हिमाचल से टीचर समेत 3 गिरफ्तार, पूछताछ में हो सकता है अहम खुलासा     ||   बिहार: शराब और मुर्गे के साथ गश्त करने वाली पुलिस टीम निलंबित     ||   रेलवे की 90 हजार नौकरियों के आवेदन की आज लास्ट डेट, दो करोड़ 80 लाख कर चुके हैं अप्लाई     ||   कांग्रेस में बड़ा बदलाव: जनार्दन द्विवेदी की छुट्टी, गहलोत बने नए AICC महासचिव     ||   भारत ने चीन की तिब्बत सीमा पर भेजे और सैनिक, गश्त भी बढ़ाई     ||   अब कॉल सेंटर की नौकरियों पर नजर, अमेरिकी सांसद ने पेश किया बिल     ||   ब्लूमबर्ग मीडिया का दावा, 2019 छोड़िए 2029 तक पीएम रहेंगे नरेंद्र मोदी     ||   फेसबुक को डेटा लीक मामले से लगा तगड़ा झटका, 35 अरब डॉलर का नुकसान     ||

यूजीसी ने जेएनयू, बीएचयू और एएमयू के साथ 52 विश्वविद्यालय को लेकर लिया बड़ा फैसला, प्रदान की स्वायत्तता

अंग्वाल न्यूज डेस्क
यूजीसी ने जेएनयू, बीएचयू और एएमयू के साथ 52 विश्वविद्यालय को लेकर लिया बड़ा फैसला, प्रदान की स्वायत्तता

नई दिल्ली। केन्द्र सरकार ने जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय, बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय और अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय समेत देश के 52 विश्वविद्यालयों को लेकर बड़ा फैसला लिया है। सरकार ने इन सभी को स्वायत्ता दे दी है। अब इन्हें फीस, सीट, शिक्षक, दाखिला, पाठ्यक्रम, कोर्स आदि के लिए यूजीसी की मंजूरी नहीं लेनी पड़ेगी। इसके साथ 8 कॉलेजों को भी स्वायत्तता प्रदान की गयी है, हालांकि इनमें दिल्ली विश्वविद्यालय का कोई कॉलेज नहीं है। 

 

गौरतलब है कि मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावडे़कर ने इसकी आधिकारिक घोषणा की है। जावड़ेकर ने कहा कि यूजीसी काउंसिल की बैठक में 3.26 स्कोर या उससे अधिक वाले नैक एक्रिडिटेशन वाले संस्थानों को ग्रेडेड स्वायत्तता प्रदान की गई है। यूजीसी काउंसिल के फैसले का सीधा मतलब यह है कि जो भी शिक्षण संस्थान गुणवत्ता रखेगा उसे ही स्वायत्ता मिलेगी।

ये भी पढ़ें - अरुण जेटली ने केजरीवाल को माफ करने के रखी शर्त, कहा-सभी नेता को मांगनी पड़ेगी माफी

आपको बता दें कि सरकार अच्छे संस्थानों को स्वायत्तता देने के लिए अनेक कदम उठा रही है। स्वायत्तता मिलने वाले संस्थानों में 5 केंद्रीय विश्वविद्यालय, 21 राज्य विश्वविद्यालय, 24 डीम्ड यूनिवर्सिटी और दो निजी विश्वविद्यालय हैं। 

स्वायत्तता में यह होगा खास

- रिसर्च पार्क बना सकेंगे। विदेशी शिक्षकों को नियुक्त और विदेशी छात्रों को दाखिला दे सकेंगे।


- सरकार के तय वेतन से अधिक वेतन देने का भी अधिकार होगा। आरक्षण नियम पूर्व की भांति लागू रहेगा।

- दुनिया के टॉप 500 शिक्षण संस्थानों के साथ उक्त विश्वविद्यालय समझौता कर सकेंगे।

- 8 स्वायत्त कॉलेजों की डिग्री में विश्वविद्यालय के साथ कॉलेज का भी नाम होगा।

तीन विश्वविद्यालयों को कारण बताओ नोटिस

सुप्रीम कोर्ट ने जिन 4 डीम्ड संस्थानों की 2001-05 तक इंजीनियरिंग की डिग्री निरस्त की थी, उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया जा रहा है। इसमें इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस स्ट्डीज इन एजुकेशन राजस्थान, विनायक मिशन रिसर्च फाउंडेशन तमिलनाडु, मीनाक्षी एकेडमी ऑफ हायर एजुकेशन एंड रिसर्च चेन्नई का नाम शामिल हैं।

 

Todays Beets: