Wednesday, February 21, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

उत्तर कोरिया के खिलाफ अमेरिका को मिली बड़ी जीत, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने पारित किया उत्तर कोरिया पर प्रतिबंध लगाने का प्रस्ताव

अंग्वाल न्यूज डेस्क
उत्तर कोरिया के खिलाफ अमेरिका को मिली बड़ी जीत, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने पारित किया उत्तर कोरिया पर प्रतिबंध लगाने का प्रस्ताव

संयुक्त राष्ट्र।

उत्तर कोरिया और अमेरिका के बीच चल रही तनातनी के बीच अमेरिका को उत्तर कोरिया के खिलाफ बड़ी कूटनीतिक सफलता मिली है। भारतीय समयानुसार शनिवार देर रात संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने उत्तर कोरिया के खिलाफ प्रतिबंध और कड़े करने के संबंध में अमेरिका द्वारा तैयार प्रस्ताव को सर्वसम्मति से पारित कर दिया। 15 सदस्यों वाली परिषद में प्रस्ताव को मंजूरी मिलने से उत्तर कोरिया के वार्षिक राजस्व में एक अरब डॉलर (करीब 65 अरब रुपए) की कटौती होगी।

ये भी पढ़ें— अमेरिका ने अपने नागरिकों से उत्तर कोरिया छोड़ने को कहा, उत्तर कोरिया पर लागू कर सकता है नई या...

जानकारी के अनुसार, अमेरिका ने चीन के साथ करीब एक महीने की बातचीत के बाद इस प्रस्ताव का मसौदा तैयार किया है। चीन उत्तर कोरिया का सबसे बड़ा व्यापार सहयोगी है। दरअसल, उत्तर कोरिया के परमाणु हथियार और मिसाइल विकास कार्यक्रम पर रोक लगाने के लिए अमेरिका उसके आर्थिक संसाधन सीमित कर रहा है।

ये भी पढ़ें— पेरिस जलवायु समझौते से हटने की तैयारी में अमेरिका, संयुक्त राष्ट्र को दी जानकारी


इस प्रस्ताव के पारित हो जाने के बाद उत्तर कोरिया के कोयला, लौह, कच्चा लोहा, सीसा, और समुद्री भोजन के निर्यात पर प्रतिबंध लग जाएगा। इसके साथ ही इस प्रस्ताव के तहत विदेशों में काम करने वाले उत्तर कारियाई मजदूरों की संख्या बढ़ाने, नए संयुक्त उद्यमों के साथ काम करने और वर्तमान संयुक्त उपक्रमां में नए निवेश पर भी प्रतिबंध लगाया गया है। इससे उत्तर कोरिया में आने वाली विदेशी पूंजी पर रोक लगेगी।

ये भी पढ़ें— देश की 400 बोलियों है अगले पचास सालों मे लुप्त होने की कगार पर, पढ़े पूरी रिपोर्ट...

बता दें कि अमेरिका ने इन प्रतिबंधों का मसौदा चार जुलाई को उत्तर कोरिया द्वारा किए गए अंतर महाद्वीपीय बैलेस्टिक मिसाइल परीक्षण के बाद तैयार किया गया था। लेकिन जब तक मसौदे ने अंतिम रूप लिया, तब तक 28 जुलाई को उत्तर कोरिया ने एक और बैलेस्टिक मिसाइल परीक्षण कर डाला।

 

 

Todays Beets: