Monday, May 21, 2018

Breaking News

   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||   मायावती का पलटवार, कहा- सत्ता के अहंकार में जनता को मूर्ख समझ रही BJP; शाह के गुरू मोदी ने गिराया पार्टी का स्तर     ||   चीन के स्‍पर्म बैंक ने रखी अनोखी शर्त, सिर्फ कम्‍युनिस्‍टों का समर्थन करने वाले ही दान कर सकेंगे स्‍पर्म     ||   CBSE पेपर लीक: हिमाचल से टीचर समेत 3 गिरफ्तार, पूछताछ में हो सकता है अहम खुलासा     ||   बिहार: शराब और मुर्गे के साथ गश्त करने वाली पुलिस टीम निलंबित     ||

फारूख अब्दुल्ला की चुनौती स्वीकार कर लाल चौक पर तिरंगा लहराने पहुंचे शिवसैनिक, 8 को पुलिस ने लिया हिरासत में 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
फारूख अब्दुल्ला की चुनौती स्वीकार कर लाल चौक पर तिरंगा लहराने पहुंचे शिवसैनिक, 8 को पुलिस ने लिया हिरासत में 

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री डाॅक्टर फारूख अब्दुल्ला की लाल चौक पर झंडा फहराने की चुनौती को स्वीकार करते हुए विश्व हिन्दू परिषद के कार्यकर्ताओं ने वहां झंडा फहराया लेकिन शिवसैनिकों को पुलिस ने रोक दिया और धारा 144 तोड़ने के आरोप में उन्हें गिरफ्तार कर लिया। शिवसैनिकों ने राज्य सरकार पर भी आरोप लगाया कि सरकार ही यहां झंडा फहराना नहीं चाहती है।

विहिप ने चुनौती की स्वीकार

आपको बता दें कि फारूख अब्दुल्ला ने घाटी में एक जनसभा को संबोधित करते हुए पीओके को पाकिस्तान का हिस्सा बताया था और भाजपा के नेताओं को लाल चैक पर झंडा फहराने की चुनौती दी थी। बता दें कि विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ता बिना किसी ऐलान के ही जम्मू से श्रीनगर के लिए निकले थे। विहिप कार्यकत्र्ताओं ने लालचौक मे तिरंगा फहराने संबंधी विवादित बयानबाजी के लिए डाॅक्टर फारुक अब्दुल्ला का गत दिनों जम्मू में घेराव किया था इसके बाद डॉ. अब्दुल्ला ने उन्हें लालचैक आने की चुनौती दी थी। 


ये भी पढ़ें - आतंकी साजिश रचने वाले 8 आतंकियों को मिली उम्रकैद, दो-दो लाख का जुर्माना भी लगाया गया 

शिवसैनिकों को लिया हिरासत में

आपको बता दें कि विश्व हिन्दू परिषद के कार्यकर्ताओं ने पुलिस के साथ धक्का- मुक्की कर वहां झंडा फहरा दिया। इसके फौरन बाद ही शिवसैनिकों ने वहां झंडा फहराने की कोशिश की लेकिन पुलिस ने उन्हें रोक दिया और 8 शिव सैनिकों को निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने के आरोप में हिरासत में ले लिया। इस दौरान एक शिव सैनिक ने वहां मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष डा फारुक अब्दुल्ला ने गत माह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत पूरे देश को लाल चैक में तिरंगा फहराने की चुनौती दी थी। लेकिन यहां राज्य सरकार ही तिरंगा फहराने के खिलाफ है, तभी हम लोगों को इसकी इजाजत नहीं दी गई। 

Todays Beets: