Sunday, February 24, 2019

Breaking News

   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||

रालोसपा अध्यक्ष का बड़ा बयान, कहा-जिनके साथ रहा उन्होंने ही धोखा दिया

अंग्वाल न्यूज डेस्क
रालोसपा अध्यक्ष का बड़ा बयान, कहा-जिनके साथ रहा उन्होंने ही धोखा दिया

नई दिल्ली। बिहार में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) से अलग होने के औपचारिक ऐलान करने से पहले उपेन्द्र कुशवाहा ने गुरुवार को एक बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि वह जिस सोच के साथ राजनीति में आए थे वह मकसद पूरा नहीं हुआ। उन्होंने भाजपा पर तंज करते हुए कहा कि वे जिन लोगों के साथ थे उन्होंने ही धोखा दिया है। केंद्र और राज्य सरकार पर आरोप लगाते हुए कुशवाहा ने कहा कि आज देश और प्रदेश की राजनीति आज अहम मोड़ पर है। यहां बता दें कि इससे पहले उन्होंने अपनी मांगों की सूची जारी कर कहा था कि अगर इन मांगों को मान लिया जाता है तो वे एनडीए में बनेे रहेंगे। 

गौरतलब है कि बिहार में सीटों के बंटवारे को लेकर भाजपा और राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) के नेता उपेन्द्र कुशवाहा के बीच खटास पैदा हो गई थी। दरअसल कुशवाहा अपनी पार्टी की लोकप्रियता नीतीश कुमार की पार्टी से ज्यादा बताते हुए जदयू से ज्यादा सीटों की मांग की थी। इस पर काफी राजनीति हुई और नीतीश कुमार ने कुशवाहा को ‘नीच’ तक कह दिया था। इसके बाद कुशवाहा ने भी नीतीश को अपना डीएनए रिपोर्ट सार्वजनिक करने की बात कह दी थी। इन बयानों के बीच जदयू की ओर से रालोसपा को हद में रहने की चेतावनी दी थी। 

ये भी पढ़ें - नवजोत सिद्धू की बोलने की शक्ति खतरे में , डॉक्टर की हिदायत के बाद इलाज के लिए अज्ञात स्थान गए


यहां बता दें कि ऐसा माना जा रहा था कि मुख्य रूप से सीटों के बंटवारे का मुद्दा काफी बड़ा गया और कुशवाहा ने एनडीए का साथ छोड़ने का मन बना लिया। हालांकि उन्होंने गुरुवार को पीएम से मिलने के बाद ही इसका औपचारिक ऐलान करने की बात कही थी। पीएम से मुलाकात के पहले ही उन्होंने एक बार फिर से बड़ा बयान देकर सुर्खियों में आ गए हैं। कुशवाहा ने कहा कि उनकी राजनीतिक सोच पूरी नहीं हुई और जिनके साथ वे रहे उन्हांेने ही धोखा दिया है। इसके साथ ही देश और प्रदेश की राजनीति के अहम मोड़ पर होने की बात कही है। 

 

Todays Beets: