Saturday, August 19, 2017

Breaking News

   मच्छल में घुसपैठ नाकाम, पांच आतंकी ढेर, भारी मात्रा में गोलाबारूद बरामद    ||   जापान के बाद अब अमेरिका के साथ युद्धाभ्यास की तैयारी में भारत    ||   SC में आर्टिकल 370 को हटाने के लिए याचिका दायर, कोर्ट ने दिया केंद्र को नोटिस    ||   राज्यसभा में सिब्बल बोले- छप रहे 1 नंबर के दो नोट, सदी का सबसे बड़ा घोटाला    ||   नीतीश सरकार के मंत्रिमंडल का आज होगा विस्तार, शपथ ले सकते हैं 16 मंत्री    ||   सपा को तगड़ा झटका, बुक्कल नवाब समेत 2 MLC का इस्तीफा, की मोदी-योगी की तारीफ    ||   नगालैंड: शुरहोजेली ने विश्वासमत से पहले ही मानी हार, ज़ेलियांग ने ली CM पद की शपथ    ||   बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा- पार्टी कहेगी तो दे दूंगा इस्तीफा    ||   डोकलाम विवाद: भारतीय सीमा के पास खूब हथियार जमा कर रहा है चीन!    ||   रवि शास्त्री की चाहत- सचिन को मिले भारतीय बल्लेबाजी का जिम्मा    ||

पेरिस जलवायु समझौते से हटने की तैयारी में अमेरिका, संयुक्त राष्ट्र को दी जानकारी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पेरिस जलवायु समझौते से हटने की तैयारी में अमेरिका, संयुक्त राष्ट्र को दी जानकारी

वॉशिंगटन।

अमेरिका 2015 में हुए ऐतिहासिक पेरिस जलवायु समझौते से हटने की तैयारी कर रहा है। अमेरिका ने अपने इस फैसले की औपचारिक जानकारी संयुक्त राष्ट्र को दे दी है। अमेरिकी विदेश मंत्रालय के अनुसार, अमेरिका का यह कदम राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के चुनावी वादे के अनुरूप है।

ये भी पढ़ें— अमेरिका ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की स्थाई सदस्यता के समर्थन की पुष्टि की

अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने बताया कि संयुक्त राष्ट्र को भेजे गए नोटिस में कहा गया कि यदि अमेरिका के लिए इस समझौते की शर्तों में सुधार होता है, तो वह बातचीत की प्रक्रिया में शामिल होगा। विदेश मंत्रालय ने कहा कि अमेरिका जलवायु परिवर्तन पर होने वाली बैठकोंमें भाग लेता रहेगा। पेरिस जलवायु परिवर्तन समझौते से अमेरिका तुरंत बाहर नहीं हो सकता। दरसअल, समझौते की शर्तों के अनुसार, अमेरिका चार नवंबर 2020 तक इस समझौते से पूरी तरह अलग नहीं हो सकता है। इस समझौते का उद्देश्य धरती को औद्योगिक काल की शुरुआत के तापमान से दो डिग्री अधिक गर्म होने से बचाना है।


ये भी पढ़ें— अमेरिका ने अपने नागरिकों से उत्तर कोरिया छोड़ने को कहा, उत्तर कोरिया पर लागू कर सकता है नई या...

बता दें अमेरिका में अगले राष्ट्रपति का चुनाव 4 नवंबर 2020 को होना है। यानी अगर अगले अमेरिकी राष्ट्रपति चाहें, तो वह इस समझौते में दोबारा शामिल हो सकते हैं।

ये भी पढ़ें— आठवीं तक बच्चों को फेल न करने की नीति होगी खत्म, केंद्रीय मंत्रिमंडल ने दी प्रस्ताव को मंजूरी

Todays Beets: