Thursday, October 19, 2017

Breaking News

   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||

वेंकैया नायडू बने देश के 13वें उपराष्ट्रपति, क्रॉस वोटिंग का मिला जबरदस्त फायदा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
वेंकैया नायडू बने देश के 13वें उपराष्ट्रपति, क्रॉस वोटिंग का मिला जबरदस्त फायदा

नई दिल्ली।

उपराष्ट्रपति के लिए हुए चुनाव में एनडीए के उम्मीदवार वेंकैया नायडू को देश का 13वां उपराष्ट्रपति चुन लिया गया है। शनिवार को हुए चुनाव में नायडू को 516 सांसदों ने अपना समर्थन दिया वहीं​ विपक्ष के उम्मीदवार गोपालकृष्ण गांधी को 244 वोट मिले। नायडू को क्रॉस वोटिंग का जबरदस्त फायदा मिला। उन्हें एनडीए के अलावा विपक्षी दलों के सांसदों ने भी अपना समर्थन दिया। जानकारी के अनसुार, विपक्षी पार्टियों के करीब 24 सांसदों ने उप राष्ट्रपति चुनाव में अपने नेतृत्व का निर्देश नहीं माना और नायडू के पक्ष में मतदान किया।

ये भी पढ़ें— उपराष्ट्रपति चुनाव में गोपालकृष्ण गांधी का समर्थन करेगी आम आदमी पार्टी

शनिवार सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक उपराष्ट्रपति पद के लिए सांसदों ने मतदान किया। मतदान के दौरान 785 वोट में से 771 वोट पड़े। वोटिंग 98.21 फीसदी रही। इस चुनाव में 11 वोट अमान्य करार दिए गए। जबकि 14 सांसदों ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल नहीं किया। नायडू 11 अगस्त को उपराष्ट्रपति पद की शपथ लेंगे।


ये भी पढ़ें— राहुल गांधी पर अमित शाह ने कसा तंज, कहा बापू के सपने को पूरा कर रहे हैं कांग्रेस उपाध्यक्ष

सदन की गरिमा को बनाए रखूंगा : नायडू

चुनाव जीतने के बाद नायडू ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उन्हें वोट देने वाले सांसदों का आभार व्यक्त किया और संविधान एवं संसद के उच्च सदन की गरिमा को बनाए रखने का वादा किया। नायडू ने कहा कि राष्ट्रपति के हाथों को मजबूत करने और उच्च सदन की गरिमा को बनाए रखने के लिए मैं उप राष्ट्रपति की संस्था का उपयोग करना चाहता हूं। उप राष्ट्रपति राज्यसभा के सभापति भी होते हैं। उन्होंने कहा, एक साधारण किसान के परिवार से उप-राष्ट्रपति बनना मेरे लिए सम्मान की बात है। यह हमारे लोकतंत्र की खूबसूरती और मजबूती है।

Todays Beets: