Thursday, February 22, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

विदाई समारोह से पहले उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी बोले- देश के मुस्लिमों में घबराहट और असुरक्षा की भावना

अंग्वाल न्यूज डेस्क
विदाई समारोह से पहले उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी बोले- देश के मुस्लिमों में घबराहट और असुरक्षा की भावना

नई दिल्ली । उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी का दूसरा कार्यकाल भी गुरुवार को पूरा हो रहा है। हालांकि अपने दो कार्यकाकालों के दौरान कुछ मुद्दों को लेकर वह सुर्खियों में रहे, लेकिन अपनी विदाई से पहले एक बार फिर उन्होंने एक बयान दे डाला है, जिसके चलते वह चर्चाओं में आ गए हैं। उप-राष्ट्रपति हामिद अंसारी ने कहा कि देश के मुस्लिमों में घबराहट और असुरक्षा की भावना है। उन्होंने कहा कि उन्होंने असहनशीलता का मुद्दा पीएम मोदी और उनकी कैबिनेट के सामने उठाया है। इतना ही नहीं उन्होंने इस मुद्दे को 'परेशान करने वाला विचार' करार देते हुए कहा कि इन दिनों नागरिकों की भारतीयता पर सवाल उठाए जा रहे हैं। इस दौरान उन्होंने ‘तीन तलाक’ के मुद्दे को ‘सामाजिक विचलन’ बताया। उन्होंने कहा कि इसकी कोई धार्मिक जरूरत नहीं है।

ये भी पढ़ें - लॉकरों की सुरक्षा की जिम्मेदारी बैंक पर डाली, लेकिन चोरी सामान की भरपाई के लिए विशेष परिपत्र नहीं

मुस्लिमों में घबराहट

राज्यसभा टीवी को दिए अपने एक साक्षात्कार में उन्होंने अपनी चिंताओं से पीएम मोदी को अगवत कराया। इस दौरान कई मुद्दों पर बात के दौरान उन्होंने एक सवाल के जवाब में देश के मुस्लिमों में घबराहट और असुरक्षा की भावना होने की बात कही। हालांकि सरकार की प्रतिक्रिया पूछे जाने पर उन्होंने कहा, 'यूं तो हमेशा एक स्पष्टीकरण होता है और एक तर्क होता है। अब यह तय करने का मामला है कि आप स्पष्टीकरण स्वीकार करते हैं कि नहीं। आप तर्क स्वीकार करते हैं कि नहीं।' 

ये भी पढ़ें - सावधान...आतंकियों के निशाने पर है अब आम जनता, दिल्ली से आतंकी गिरफ्तार तो ट्रेन के एसी कोच मे...

भारतीय मूल्य कमजोर हुए


असल में पिछले दिनों कुछ लोगों द्वारा संदिग्ध परिस्थितियों में  कुछ लोगों को पीट-पीटकर हत्या संबंधी घटनाओं, घर वापसी और तर्कवादियों की हत्याओं का हवाला देते हुए कहा कि यह भारतीय मूल्यों का बेहद कमजोर हो जाना है। सामान्य तौर पर कानून लागू करा पाने में विभिन्न स्तरों पर अधिकारियों की योग्यता का चरमरा जाना है। इससे भी ज्यादा परेशान करने वाली बात किसी नागरिक की भारतीयता पर सवाल उठाया जाना है। 

ये भी पढ़ें - चीन ने भारत को फिर दी धमकी, अगर कालापानी या कश्मीर में चीन घुस जाए, तो क्या करेगा भारत

आज से अपनी मूल सोच पर काम कर सकते हैं - मोदी

हालांकि बाद में राज्यसभा में हामिद अंसारी के विदाई समारोह के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि उनके परिवार का देश के इतिहास में बड़ा योगदान रहा है। अंसारी जी ने अपने दो कार्यकाल के दौरान सभी को संभाला। आज के बाद आप अपनी मूल सोच पर काम कर सकते हैं, मेरी विदेश यात्रा शुरू होने या खत्म होने से पहले आपसे काफी कुछ सीखने को मिला था. पीएम मोदी ने कहा कि उपराष्ट्रपति ने अपने कार्यकाल के दौरान देश के लिए काफी योगदान किया है।  

ये भी पढ़ें संसद में सोनिया गांधी के हाथ कांपते दिखे...पर जारी रखा संघ पर हमला करना

Todays Beets: