Wednesday, June 20, 2018

Breaking News

   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||   टेस्ट में भारत की सबसे बड़ी जीत: अफगानिस्तान को एक दिन में 2 बार ऑलआउट किया, डेब्यू टेस्ट 2 दिन में खत्म     ||   पेशावर स्कूल हमले का मास्टरमाइंड और मलाला पर गोली चलवाने वाला आतंकी फजलुल्लाह मारा गया: रिपोर्ट     ||   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||

विदाई समारोह से पहले उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी बोले- देश के मुस्लिमों में घबराहट और असुरक्षा की भावना

अंग्वाल न्यूज डेस्क
विदाई समारोह से पहले उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी बोले- देश के मुस्लिमों में घबराहट और असुरक्षा की भावना

नई दिल्ली । उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी का दूसरा कार्यकाल भी गुरुवार को पूरा हो रहा है। हालांकि अपने दो कार्यकाकालों के दौरान कुछ मुद्दों को लेकर वह सुर्खियों में रहे, लेकिन अपनी विदाई से पहले एक बार फिर उन्होंने एक बयान दे डाला है, जिसके चलते वह चर्चाओं में आ गए हैं। उप-राष्ट्रपति हामिद अंसारी ने कहा कि देश के मुस्लिमों में घबराहट और असुरक्षा की भावना है। उन्होंने कहा कि उन्होंने असहनशीलता का मुद्दा पीएम मोदी और उनकी कैबिनेट के सामने उठाया है। इतना ही नहीं उन्होंने इस मुद्दे को 'परेशान करने वाला विचार' करार देते हुए कहा कि इन दिनों नागरिकों की भारतीयता पर सवाल उठाए जा रहे हैं। इस दौरान उन्होंने ‘तीन तलाक’ के मुद्दे को ‘सामाजिक विचलन’ बताया। उन्होंने कहा कि इसकी कोई धार्मिक जरूरत नहीं है।

ये भी पढ़ें - लॉकरों की सुरक्षा की जिम्मेदारी बैंक पर डाली, लेकिन चोरी सामान की भरपाई के लिए विशेष परिपत्र नहीं

मुस्लिमों में घबराहट

राज्यसभा टीवी को दिए अपने एक साक्षात्कार में उन्होंने अपनी चिंताओं से पीएम मोदी को अगवत कराया। इस दौरान कई मुद्दों पर बात के दौरान उन्होंने एक सवाल के जवाब में देश के मुस्लिमों में घबराहट और असुरक्षा की भावना होने की बात कही। हालांकि सरकार की प्रतिक्रिया पूछे जाने पर उन्होंने कहा, 'यूं तो हमेशा एक स्पष्टीकरण होता है और एक तर्क होता है। अब यह तय करने का मामला है कि आप स्पष्टीकरण स्वीकार करते हैं कि नहीं। आप तर्क स्वीकार करते हैं कि नहीं।' 

ये भी पढ़ें - सावधान...आतंकियों के निशाने पर है अब आम जनता, दिल्ली से आतंकी गिरफ्तार तो ट्रेन के एसी कोच मे...

भारतीय मूल्य कमजोर हुए


असल में पिछले दिनों कुछ लोगों द्वारा संदिग्ध परिस्थितियों में  कुछ लोगों को पीट-पीटकर हत्या संबंधी घटनाओं, घर वापसी और तर्कवादियों की हत्याओं का हवाला देते हुए कहा कि यह भारतीय मूल्यों का बेहद कमजोर हो जाना है। सामान्य तौर पर कानून लागू करा पाने में विभिन्न स्तरों पर अधिकारियों की योग्यता का चरमरा जाना है। इससे भी ज्यादा परेशान करने वाली बात किसी नागरिक की भारतीयता पर सवाल उठाया जाना है। 

ये भी पढ़ें - चीन ने भारत को फिर दी धमकी, अगर कालापानी या कश्मीर में चीन घुस जाए, तो क्या करेगा भारत

आज से अपनी मूल सोच पर काम कर सकते हैं - मोदी

हालांकि बाद में राज्यसभा में हामिद अंसारी के विदाई समारोह के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि उनके परिवार का देश के इतिहास में बड़ा योगदान रहा है। अंसारी जी ने अपने दो कार्यकाल के दौरान सभी को संभाला। आज के बाद आप अपनी मूल सोच पर काम कर सकते हैं, मेरी विदेश यात्रा शुरू होने या खत्म होने से पहले आपसे काफी कुछ सीखने को मिला था. पीएम मोदी ने कहा कि उपराष्ट्रपति ने अपने कार्यकाल के दौरान देश के लिए काफी योगदान किया है।  

ये भी पढ़ें संसद में सोनिया गांधी के हाथ कांपते दिखे...पर जारी रखा संघ पर हमला करना

Todays Beets: