Friday, September 21, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

पश्चिम बंगाल में ‘खूनी’ हुआ पंचायत चुनाव, दक्षिण परगना में 5 लोगों की मौत

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पश्चिम बंगाल में ‘खूनी’ हुआ पंचायत चुनाव, दक्षिण परगना में 5 लोगों की मौत

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल में सोमवार की सुबह से पंचायत चुनाव के लिए हो रहे मतदान में हिंसा की खबरें सामने आई हैं। दक्षिण परगना जिले के कुलताली क्षेत्र में टीएमसी कार्यकर्ता आरिफ गाजी की गोली मारकर हत्या कर दी गई है। स्थानीय लोगों का आरोप है कि तृणमूल कांग्रेस के नेता ने भाजपा के कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट की है। वोट डालने के लिए बड़ी संख्या में लोग सुबह से ही कतारों में नजर आए। बता दें कि पश्चिम बंगाल के पंचायत चुनाव को आने वाले चुनाव से भी जोड़कर देखा जा रहा है। भाजपा के प्रवक्ता ने पंचायत चुनाव के दौरान हुई हिंसा को बेहद शर्मनाक बताया है। 

गौरतलब है कि भाजपा के नेता सुधांशु त्रिवेदी ने कहा कि चुनाव में हिंसा की कोई जगह नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि यह दिखाता है कि टीएमसी अंदर से कितनी घबराई हुई है। यह गणतंत्र के लिए खतरे की घंटी है। बता दें कि पश्चिम बंगाल के कुछ इलाकों से वोटिंग के दौरान हिंसा की खबरें मिली हैं। उत्तरी 24 परगना के अमदंगा के साधनपुर में हुए बम धमाके में कम से कम 20 लोग घायल हो गए हैं।

बताया जा रहा है कि मुर्शिदाबाद में टीएमसी और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच हुई झड़प के बाद बैलेट पेपर को एक तालाब में फेंक दिया गया है जिसकी वजह से वहां मतदान रोक दिया गया है। उपद्रवियों ने मीडिया को भी नहीं बख्शा है। भानगढ़ में एक मीडिया के वाहन को आग लगा दी गई है और कैमरा भी तोड़ दिया गया है। मीडिया को क्षेत्र के अंदर आने की इजाजत नहीं है। स्थानीय लोगों ने भानगढ़ की रोड को ब्लॉक कर दिया है। उनका आरोप है कि टीएमसी कार्यकर्ताओं ने बूथ कैप्चर कर लिया है। इसके साथ ही बिलकांडा में भाजपा समर्थक पर टीएमसी कार्यकर्ताओं की ओर से चाकू से हमला किया गया। फिलहाल उनका इलाज चल रहा है।


ये भी पढ़ें - उत्तराखंड से लगने वाली नेपाल सीमा पर बस गिरी खाई में, 5 लोगों की मौत, 20 से ज्यादा घायल

गौर करने वाल बात है कि राजनीतिक पार्टियां पंचायत चुनाव को लोकसभा चुनाव के लिए अपनी ताकत के परीक्षण के रूप में देखा जा रहा है। बता दें कि इन चुनावों के परिणाम 17 मई को आएंगे। चुनाव आयोग ने कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो 16 मई को पुनर्मतदान कराया जा सकता है। चुनाव आयोग ने मतदान के लिए सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए हैं। इसके लिए असम, ओडिशा, सिक्किम और आंध्र प्रदेश से लगभग डेढ़ हजार सुरक्षाकर्मी बुलाए गए हैं। इसके अलावा राज्य पुलिस के 46 हजार, कोलकाता पुलिस के 12 हजार और विभिन्न विभागों के दो हजार जवानों को मतदान केंद्रों पर तैनात किया गया है।   

Todays Beets: