Wednesday, October 17, 2018

Breaking News

   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||   सुप्रीम कोर्ट ने कठुआ मामले में सीबीआई जांच की अर्जी को खारिज किया    ||   मध्यप्रदेश सरकार ने पांच नए सूचना आयुक्त चुने, राज्यपाल को भेजी सिफारिश     ||   बिहार: ASI संग शराब बेच रहा था थानेदार, अरेस्ट     ||

सीएम बिप्लव देब की नागरिकता पर उठे सवाल, बताया बांग्लादेशी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
सीएम बिप्लव देब की नागरिकता पर उठे सवाल, बताया बांग्लादेशी

नई दिल्ली। उत्तरपूर्वी राज्य असम में एनआरसी के ड्राफ्ट में 40 लाख लोगों को अवैध बताने के बाद मामला काफी गर्म हो गया है। अब यह त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लव देब के नागरिकता तक पहुंच गई है। दरअसल बिप्लव देब की विकिपीडिया पेज पर पिछले कुछ दिनों से उनके जन्म स्थान को लेकर लगातार बदलाव किया जा रहा है। इसमंे लगातार उन्हें बांग्लादेश का बताया जा रहा है। लगातार हो रहे बदलाव के बाद त्रिपुरा के मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार संजय मिश्रा ने खंडन करते हुए कहा कि उनका जन्म भारत में ही हुआ है और वह पूरी तरह से भारतीय हैं। 

गौरतलब है कि असम में नेशनल रजिस्टर सिटीजंस (एनआरसी) के ड्राफ्ट के बाद बड़ी संख्या में वहां के नागरिकों को अवैध बताया गया है। बता दें कि करीब 40 लाख लोगों को अवैध बताने के बाद राजनीतिक संग्राम भी तेज हो गया है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने असम के नागरिकों को अवैध बताने पर कहा कि देश में गृह युद्ध जैसे हालात पैदा हो जाएंगे। हालांकि इस मामले पर पलटवार करते हुए भाजपाध्यक्ष अमित शाह ने ममता बनर्जी पहले भी बयान देकर पहले भी देश को तोड़ने की कोशिश की है। 

ये भी पढ़ें - जम्मू पुलिस ने दिल्ली को दहलाने की साजिश को किया नाकाम, आतंकी को 8 ग्रेनेड के साथ किया गिरफ्तार 


यहां बता दें कि त्रिपुरा के मुख्यमंत्री की विकिपीडिया पेज पर उनके जन्म स्थान को बांग्लादेश बताया जा रहा है। पिछले कुछ दिनों से लगातार मुख्यमंत्री के पेज पर करीब ३७ बार उनकी पेज पर छेड़छाड़ करते हुए उनके जन्म स्थान को बांग्लादेश के अलग-अलग जिलों में बताया गया है। हालांकि लगातार पेज पर हो रही छेड़छाड़ के बाद उनके मीडिया सलाहकार संजय मिश्रा ने कहा कि मुख्यमंत्री के पिता हरधन ने खुद को नागरिकता अधिनियम 1955 के अंतर्गत 27 जून 1967 को नागरिक के तौर पर पंजीकृत करवाया है। उन्होंने खुद को त्रिपुरा के उदयपुर का निवासी बताया है। बिप्लव देब का जन्म भारत में ही हुआ है और वे पूरी तरह से भारतीय हैं। 

 

Todays Beets: