Sunday, May 27, 2018

Breaking News

   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||   मायावती का पलटवार, कहा- सत्ता के अहंकार में जनता को मूर्ख समझ रही BJP; शाह के गुरू मोदी ने गिराया पार्टी का स्तर     ||   चीन के स्‍पर्म बैंक ने रखी अनोखी शर्त, सिर्फ कम्‍युनिस्‍टों का समर्थन करने वाले ही दान कर सकेंगे स्‍पर्म     ||   CBSE पेपर लीक: हिमाचल से टीचर समेत 3 गिरफ्तार, पूछताछ में हो सकता है अहम खुलासा     ||

मगध महिला काॅलेज में छात्राएं नहीं पहन सकेंगी जींस, काॅलेज प्रशासन ने लिया फैसला

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मगध महिला काॅलेज में छात्राएं नहीं पहन सकेंगी जींस, काॅलेज प्रशासन ने लिया फैसला

पटना। पटना के मगध महिला काॅलेज में छात्रों के जींस पहनने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। यही नहीं, जीन्स के अलावा लड़कियां अब पटियाला सूट पहनकर भी कॉलेज नहीं आ सकती हैं। काॅलेज प्रशासन का कहना है कि ऐसा फैसला छात्रों में ड्रेसकोड को लेकर समानता का भाव लाने के मकसद से लिया गया है। बता दें कि काॅलेज प्रशासन की ओर से जनवरी 2018 से नया ड्रेस कोड लागू किया है, जिसके तहत जीन्स और पटियाला सूट यहां तक की क्लास रूम के अन्दर मोबाइल फोन के इस्तेमाल पर भी बैन लगाया गया है।

छात्राओं की सहमति से लिया फैसला


आपको बता दें कि काॅलेज प्रशासन के फैसले के बारे में मगध महिला महाविद्यालय के प्रिंसीपल प्रोफेसर शशि शर्मा का कहना है कि हमने यह फैसला सामाजिक रूप से ड्रेस को लेकर असमानता को देखते हुए लिया है और यह 12 दिसंबर से लागू हो जाएगा। उन्होंने कहा कि यह फैसला छात्रों से बात करने के बाद ही लिया गया है। उनका मानना है कि इस नए फैसले से छात्रों में समानता आएगी और जहां तक मोबाइल का सवाल है तो उसके लिए फ्री जोन बना हुआ है, लड़कियां वहां जाकर मोबाइल पर बात कर सकती हैं। गौरतलब है कि मगध महिला महाविद्यालय की छात्राओं का कहना है कि उनकी राय लेकर ही यह फैसला लिया गया है ऐसे में उन्हें इस पर कोई ऐतराज नहीं है। 

ये भी पढ़ें - दिल्ली हाईकोर्ट ने जदयू के पार्टी निशान को लेकर चुनाव आयोग और नीतीश कुमार को नोटिस भेजा

Todays Beets: