Thursday, August 16, 2018

Breaking News

   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||

मगध महिला काॅलेज में छात्राएं नहीं पहन सकेंगी जींस, काॅलेज प्रशासन ने लिया फैसला

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मगध महिला काॅलेज में छात्राएं नहीं पहन सकेंगी जींस, काॅलेज प्रशासन ने लिया फैसला

पटना। पटना के मगध महिला काॅलेज में छात्रों के जींस पहनने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। यही नहीं, जीन्स के अलावा लड़कियां अब पटियाला सूट पहनकर भी कॉलेज नहीं आ सकती हैं। काॅलेज प्रशासन का कहना है कि ऐसा फैसला छात्रों में ड्रेसकोड को लेकर समानता का भाव लाने के मकसद से लिया गया है। बता दें कि काॅलेज प्रशासन की ओर से जनवरी 2018 से नया ड्रेस कोड लागू किया है, जिसके तहत जीन्स और पटियाला सूट यहां तक की क्लास रूम के अन्दर मोबाइल फोन के इस्तेमाल पर भी बैन लगाया गया है।

छात्राओं की सहमति से लिया फैसला


आपको बता दें कि काॅलेज प्रशासन के फैसले के बारे में मगध महिला महाविद्यालय के प्रिंसीपल प्रोफेसर शशि शर्मा का कहना है कि हमने यह फैसला सामाजिक रूप से ड्रेस को लेकर असमानता को देखते हुए लिया है और यह 12 दिसंबर से लागू हो जाएगा। उन्होंने कहा कि यह फैसला छात्रों से बात करने के बाद ही लिया गया है। उनका मानना है कि इस नए फैसले से छात्रों में समानता आएगी और जहां तक मोबाइल का सवाल है तो उसके लिए फ्री जोन बना हुआ है, लड़कियां वहां जाकर मोबाइल पर बात कर सकती हैं। गौरतलब है कि मगध महिला महाविद्यालय की छात्राओं का कहना है कि उनकी राय लेकर ही यह फैसला लिया गया है ऐसे में उन्हें इस पर कोई ऐतराज नहीं है। 

ये भी पढ़ें - दिल्ली हाईकोर्ट ने जदयू के पार्टी निशान को लेकर चुनाव आयोग और नीतीश कुमार को नोटिस भेजा

Todays Beets: