Tuesday, August 22, 2017

Breaking News

   मच्छल में घुसपैठ नाकाम, पांच आतंकी ढेर, भारी मात्रा में गोलाबारूद बरामद    ||   जापान के बाद अब अमेरिका के साथ युद्धाभ्यास की तैयारी में भारत    ||   SC में आर्टिकल 370 को हटाने के लिए याचिका दायर, कोर्ट ने दिया केंद्र को नोटिस    ||   राज्यसभा में सिब्बल बोले- छप रहे 1 नंबर के दो नोट, सदी का सबसे बड़ा घोटाला    ||   नीतीश सरकार के मंत्रिमंडल का आज होगा विस्तार, शपथ ले सकते हैं 16 मंत्री    ||   सपा को तगड़ा झटका, बुक्कल नवाब समेत 2 MLC का इस्तीफा, की मोदी-योगी की तारीफ    ||   नगालैंड: शुरहोजेली ने विश्वासमत से पहले ही मानी हार, ज़ेलियांग ने ली CM पद की शपथ    ||   बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा- पार्टी कहेगी तो दे दूंगा इस्तीफा    ||   डोकलाम विवाद: भारतीय सीमा के पास खूब हथियार जमा कर रहा है चीन!    ||   रवि शास्त्री की चाहत- सचिन को मिले भारतीय बल्लेबाजी का जिम्मा    ||

पत्थरबाजों ने फिर की जाकिर मूसा की मदद, सुरक्षाबलों को चकमा देकर भागने में रहा कामयाब

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पत्थरबाजों ने फिर की जाकिर मूसा की मदद, सुरक्षाबलों को चकमा देकर भागने में रहा कामयाब

श्रीनगर।

पूर्व हिज्बुल मुजाहिदीन कमांडर और इस समय जम्मू—कश्मीर में अलकायदा यूनिट का प्रमुख आतंकी जाकिर मूसा एक बार फिर सुरक्षाबलों को चकमा देकर भागने में कामयाब रहा है। इस काम में उसकी मदद स्थानीय पत्थरबाजों ने की। उसके साथ एक आतंकी और था। हालांकि अभी तक जाकिर मूसा के भागने की अधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है।

ये भी पढ़ें— कश्मीर में अलकायदा ने खोली अपनी ​शाखा, जाकिर मूसा को बनाया कमांडर

जानकारी के अनुसार, शुक्रवार शाम सुरक्षाबलों को खबर मिली थी कि जाकिर मूसा त्राल के नूरपुरा स्थित अपने पैतृक घर में छुपा हुआ है। इस जानकारी के बाद सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके की घेराबंदी की। लेकिन स्थानीय लोगों ने सड़कें जाम कर दी और सुरक्षाबलों पर पत्थर फेंकने लगे। ऐसी सूचना है कि स्थानीय प्रदर्शनकारियों ने आतंकवादियों को भगाने में मदद के लिए पत्थरबाजी की। इस पत्थरबाजी का फायदा उठाकर मूसा और उसका साथी वहां से भागने में सफल रहे। कुछ देर बाद पत्थरबाजी रुक गई। सुरक्षा बलों ने सूर्यास्त के बाद अपना ऑपरेशन बंद कर दिया।

ये भी पढ़ें— सावधान...आतंकियों के निशाने पर है अब आम जनता, दिल्ली से आतंकी गिरफ्तार तो ट्रेन के एसी कोच मे...

बता दें कि मूसा पहले हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल था। उसके बाद वह अल कायदा से जुड़ गया। अल-कायदा की मदद से उसे अंसार गजवा-उल-हिंद नाम का संगठन बनाया था। अलकायदा ने जाकिर मूसा को घाटी में अपना पहला कमांडर नियुक्त किया था।

ये भी पढ़ें— हिज्बुल मुजाहिदीन के मॉड्यूल का पर्दाफाश, पुलिस ने तीन आतंकियों का किया गिरफ्तार


 

 

 

 

 

 

Todays Beets: