Friday, December 14, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

फेसबुक ने नफरत फैलाने वाले 58 करोड़ अकाउंट को किया बंद, पोस्ट भी किए डिलीट 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
फेसबुक ने नफरत फैलाने वाले 58 करोड़ अकाउंट को किया बंद, पोस्ट भी किए डिलीट 

नई दिल्ली। सोशल मीडिया प्लेटफाॅर्म फेसबुक ने पिछले कुछ समय में करीब 58 करोड़ ऐसे यूजर्स का अकाउंट डिलीट कर दिया है जो घृणा और नफरत को बढ़ावा दे रहे थे। इन अकाउंट्स को बंद करने के लिए फेसबुक लंबे समय से काम कर रहा था जिससे वो अपने बिजनेस करने के तरीके को ज्यादा पारदर्शी बना सके। खुद फेसबुक के संस्थापक मार्क जुकरबर्ग ने इसकी पुष्टि की है। गौरतलब है कि घृणा और नफरत फैलाने वाले कुछ अकाउंट का पता उसने खुद लगाया और कुछ के बारे में यूजर्स ने शिकायत की थी। 

गौरतलब है कि सबसे ज्यादा उन पोस्ट्स के बारे में फेसबुक यूजर्स ने अपनी चिंता जताई जिनमें अडल्ट न्यूडिटी या सेक्सुअल ऐक्टिविटी को बढ़ावा देने की बात कही गई थीं। हालांकि बच्चों पर होने वाले यौन अपराध या फिर पोर्न को इस रिपोर्ट में कवर नहीं किया गया है। अक्टूबर-दिसंबर 2017 की तरह ही 2018 के पहले तीन महीनों में भी इस तरह की पोस्ट्स की संख्या करीब 21 मिलियन रही।


ये भी पढ़ें - डाटा चोरी की खबरों से परेशान फेसबुक ने उठाया बड़ा कदम, ऐसे 200 ऐप को किया बाहर

यहां बता दें कि इससे पहले फेसबुक ने उन 200 ऐप्स को अपने मंच से हटा दिया था जो डाटा लीक कर उनका गलत इस्तेमाल कर रहे थे। फेसबुक के प्रोडक्ट पार्टनरशिप वाईस प्रेसिडेंट इमी आर्कबोंग ने जानकारी देते हुए बताया है कि फिलहाल इस मामले की जांच चल रही है और हमारे एक्सपर्ट्स इन ऐप्स की जांच कर रहे हैं।   

Todays Beets: