Friday, August 17, 2018

Breaking News

   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||

चुनाव में डाटा लीक से सुरक्षा के लिए शुरू की हाॅट लाइन सर्विस, नेताओं को सिखाया जाएगा अकाउंट सुरक्षित रखने के गुर

अंग्वाल न्यूज डेस्क
चुनाव में डाटा लीक से सुरक्षा के लिए शुरू की हाॅट लाइन सर्विस, नेताओं को सिखाया जाएगा अकाउंट सुरक्षित रखने के गुर

नई दिल्ली। डाटा लीक होने के मामले के बीच फेसबुक ने भारतीय नेताओं को बड़ी राहत दी है। फेसबुक ने भारतीय नेताओं के लिए ई-मेल आधारित खास फीचर ‘साइबर थ्रेट क्राइसिस’ का ऐलान किया है। इस फीचर की मदद से भारत के नेताओं और राजनीतिक पार्टियों को डाटा सिक्योरिटी के लिए हॉटलाइन सर्विस दी जाएगी। इसके अलावा एक अंग्रेजी अखबार की खबरों के अनुसार फेसबुक भारत में होने वाले चुनावों के लिए एक इलेक्शन इंटिग्रिटी माइक्रोसाइट भी शुरू करने जा रहा है। 

गौरतलब है कि फेसबुक से डाटा लीक मामले में कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद से कंपनी को चेतावनी दी थी। फेसबुक ने कहा है कि इस हॉटलाइन सर्विस के तहत किसी भी तरह का डाटा लीक होने पर भारत सरकार के इलेक्ट्रॉनिक और आईटी मंत्रालय के अंतर्गत काम करने वाली कंप्यूटर इमर्जेंसी रिस्पॉन्स टीम indiacyberthreats@fb.com पर शिकायत कर सकती है।


ये भी पढ़ें - इंदौर कोर्ट का बड़ा फैसला, दुधमुंही बच्ची से दुष्कर्म करने वाले को दी सजा-ए-मौत

यहां बता दें कि सुरक्षा की दृष्टि से साइबर सिक्योरिटी गाइड भी जारी की है। इसके तहत साइबर सिक्योरिटी गाइड के जरिए राजनीतिक पार्टियों को फेसबुक पेज और अकाउंट को सुरक्षित रखने का गुर सिखाया जाएगा। इसमें टू फैक्टर ऑथेंटिकेशन और संदिग्ध लिंक्स पर क्लिक ना करने की सलाह दी गई है। बता दें कि अभी हाल ही में केंद्र सरकार ने फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग पर प्राईवेसी पर सवाल उठाए थे जिसके बाद फेसबुक ने यह फैसला लिया है।

Todays Beets: