Wednesday, June 20, 2018

Breaking News

   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||   टेस्ट में भारत की सबसे बड़ी जीत: अफगानिस्तान को एक दिन में 2 बार ऑलआउट किया, डेब्यू टेस्ट 2 दिन में खत्म     ||   पेशावर स्कूल हमले का मास्टरमाइंड और मलाला पर गोली चलवाने वाला आतंकी फजलुल्लाह मारा गया: रिपोर्ट     ||   कानपुर जहरीली शराब मामले में 5अधिकारी निलंबित     ||   अब जल्द ही बिना नेटवर्क भी कर सकेंगे कॉल, बस Wi-Fi की होगी जरुरत     ||   मौलाना मदनी ने भी की एएमयू से जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने की वकालत     ||   भारत-चीन सेना के बीच हॉटलाइन की तैयारी, LoC पर तनाव होगा दूर     ||   कसौली में धारा 144 लागू, आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर     ||   स्कूली बच्चों पर पत्थरबाजी से भड़के उमर अब्दुल्ला, कहा- ये गुंडों जैसी हरकत     ||   थर्ड फ्रंट: ममता, कनिमोझी....और अब केसीआर की एसपी चीफ अखिलेश यादव के साथ बैठक     ||

फ्लाइट में मरीज की जान बचाने वाली इस डॉक्टर को सोशल मीडिया पर सब मार रहे हैं सैल्यूट

अंग्वाल न्यूज डेस्क
फ्लाइट में मरीज की जान बचाने वाली इस डॉक्टर को सोशल मीडिया पर सब मार रहे हैं सैल्यूट

नई दिल्ली । सोशल मीडिया पर एक भारतीय महिला डॉक्टर की कहानी बड़ी तेजी से वायरल हो रही है। इस डॉक्टर ने हजारों फुट ऊपर हवाई जहाज में बिना किसी संसाधन के एक मरीज को सही उपचार देकर उसकी जान बचाई। महिला डॉक्टर के पति ने उनके इस कारनामे को सोशल मीडिया पर शेयर किया, जिसके बाद सोशल मीडिया पर इस डॉक्टर को लेकर सैल्यूट कर रहे हैं। 

ये भी पढ़ें -शेखावटी में किसान शराब से कर रहे हैं फसलों में छिड़काव, बेहतर हो रही पैदावार  

चलिए बताते हैं इस पूरे किस्से के बारे में । असल में डॉक्टर अंचिता पंडोह अपने पति सौरभ के साथ न्यूजीलैंड से मलेशिया जा रहे थे। उन्होंने ऑकलैंड से मलेशिया एयरलाइंस की एक फ्लाइट ली जो उन्हें क्वालालंपुर उतारती। डॉक्टर दंपति अपनी सीट पर सो रहे थे तभी उन्हें फ्लाइट में अफरातफरी मचती देखी। उन्होंने देखा की फ्लाइट का स्टाफ इधर-उधर भाग रहा था। ऐसा देख अंचिता उठ गई। उन्होंने देखा कि एक क्रू मेंबर एक ऑक्सीजन का सिलेंडर लेकर जा रहा था। पेशे से डॉक्टर होने के नाते अंचिता को अफरातफरी का कारण समझने में देर नहीं लगी। 

ये भी पढ़ें -अपनी धरती जैसे ग्रह मिले, 10 गुना बड़ा सूर्य है, पानी है और जीवन की संभावना भी


अंचिता बिना समय गवाएं मामले को जानने के लिए आगे बढ़ी। उन्होंने पाया कि फ्लाइट में कुछ लोग घबराए हुए थे, एक मरीज की हालत खराब हो गई थी, जिसके चलते लोग सहमे हुए थे। ऐसे में अंचिता ने क्रू मेंबर को अपने बारे में बताया और मरीज को देखने की इजाजत मांगी। क्रू मेंबर को मानों खुदा दिख गया हो। अंचिता ने बिना किसी औजार या संसाधन के मरीज की हालत को देखते हुए यथासंभव उपचार करना शुरू कर दिया। 

ये भी पढ़ें -हाथ-पैर नहीं होने के बावजूद निकोलस बने दुनिया के लिए मिसाल, दे रहे जिन्दगी जीने की सीख

कुछ देर की कवायद के बाद मरीज को राहत मिलती नजर आई, और थोड़ी देर बाद मरीज के ऊपर मंडरा रहा खतरा भी दूर हो गया। फ्लाइट के लोगों ने अंचिता के इस काम के लिए उनका आभार प्रकट किया। बाद में फ्लाइट की इमरजेंसी लैंडिंग करवाई गई और मरीज को अस्पताल भिजवाया गया। अंचिता की इस कवायद को उनके पति सौरभ कुमार ने सोशल मीडिया पर लिखकर अपने दोस्तों के साथ साझा किया। बस फिर क्या था सोशल मीडिया पर लोगों ने अंचिता को खुदा बताया तो कई लोगों ने उसे सैल्यूट मारा। सौरभ कुमार ने इस पूरी घटना क्रम का जिक्र करने के साथ एक फोटो भी शेयर की है, जिसमें मरीज फ्लाइट में लेटी हुई दिखाई दे रही है। 

ये भी पढ़ें -दुनिया के सबसे लंबे बालों वाली महिला, एक बार बाल धोने में लगते हैं 6 बोतल शैंपू

Todays Beets: