Thursday, January 17, 2019

Breaking News

   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||

आपने मोबाइल वाॅलेट का केवाईसी करवाया या नहीं, 1 मार्च से बंद हो जाएगी सेवा 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
आपने मोबाइल वाॅलेट का केवाईसी करवाया या नहीं, 1 मार्च से बंद हो जाएगी सेवा 

नई दिल्ली। आजकल ज्यादातर लोग अपने सामानों की खरीदारी आॅनलाइन करते हैं और कीमत का भुगतान भी मोबाइल वाॅलेट से करते हैं। अब रिजर्व बैंक इन मोबाइल वाॅलेट की सुविधा को 1 मार्च से बंद करने जा रहा है। खबरों के अनुसार रिजर्व बैंक ने सभी मोबाइल वाॅलेट की सुविधा देने वाली कंपनियों को 28 फरवरी तक केवाईसी को पूरा करने का वक्त दिया है। ऐसा नहीं करने वालों का मोबाइल वाॅलेट 1 मार्च के बाद बंद हो जाएगा। हालांकि रिजर्व बैंक ने मार्च के बाद भी मोबाइल वाॅलेट के पैसों का इस्तेमाल करने की इजाजत दी है। 

गौरतलब है कि मोबाइल वाॅलेट की सुविधा बंद होने से लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। रिजर्व बैंक के अनुसार ज्यादातर मोबाइल कंपनियों ने अभी तक केवाईसी को पूरा नहीं किया है। बैंक की ओर से केवाईसी पूरा करने की डेडलाइन 28 फरवरी रखी गई है। हालांकि रिजर्व बैंक ने मोबाइल वाॅलेट इस्तेमाल करने वाले ग्राहकों को राहत देते हुए कहा कि वे 28 फरवरी के बाद भी वाॅलेट में बचे अपने पैसों का इस्तेमाल सामानों को खरीदने के लिए कर सकते हैं। इतना ही नहीं वे पैसों को अपने खातों में भी जमा कर सकते हैं। 

ये भी पढ़ें - अश्लील सामग्री परोसी तो देना होगा 15 करोड़ का जुर्माना, आईटी एक्ट में होगा बदलाव

यहां बता दें कि आज ज्यादातर लोग बाजार जाने की जहमत उठाने के बजाय आॅनलाइन शाॅपिंग करने और भुगतान भी मोबाइल वाॅलेट के जरिए करना ही ज्यादा पसंद करते हैं। आरबीआई ने कहा है कि ग्राहक 1 मार्च से बिना केवाईसी के लिए वॉलेट में पैसा नहीं डाल सकेंगे। इसके साथ ही किसी को भी पैसा भेज भी नहीं सकेंगे। आरबीआई के सख्त दिशानिर्देशों के चलते ऐसा होने जा रहा है। आरबीआई का सभी मोबाइल वॉलेट कंपनियों को निर्देश है कि वो अपने यूजर्स की बेसिक केवाईसी की प्रक्रिया को पूरा कर लें। 


आपको बता दें कि कुछ बैंकों के द्वारा इस तरह की अफवाह भी फैलाई जा रही है कि 1 मार्च के बाद भी उनका मोबाइल वाॅलेट पहले ही की तरह काम करता रहेगा। बता दें कि अगर आप भी इस गलतफहमी में हैं तो सावधान हो जाएं। रिजर्व बैंक के नए नियमों के अनुसार केवाईसी की प्रक्रिया पूरी करना जरूरी है। अगर आपकी भी केवाईसी पूरी नहीं हुई तो जल्द ही करवा लें और खुलकर आॅनलाइन खरीदारी का आनंद लें।  

देश भर में ये हैं प्रमुख मोबाइल वॉलेट कंपनियां

देश भर में पेटीएम, मोबीक्विक, एसबीआई योनो, एचडीएफसी पैजेप, एम-पैसा, एयरटेल मनी, चिल्लर, अमेजन पे, फोन-पे प्रमुख मोबाइल वॉलेट कंपनियां हैं। 

 

Todays Beets: