Tuesday, October 16, 2018

Breaking News

   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||   सुप्रीम कोर्ट ने कठुआ मामले में सीबीआई जांच की अर्जी को खारिज किया    ||   मध्यप्रदेश सरकार ने पांच नए सूचना आयुक्त चुने, राज्यपाल को भेजी सिफारिश     ||   बिहार: ASI संग शराब बेच रहा था थानेदार, अरेस्ट     ||

गो एयरवेज के 2 कर्मचारी बने ‘चोर’, पुलिस ने 53 मोबाइल के साथ धरा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
गो एयरवेज के 2 कर्मचारी बने ‘चोर’, पुलिस ने 53 मोबाइल के साथ धरा

नई दिल्ली। हवाई कंपनी गो एयरवेज के कर्मचारियों पर यात्रियों के साथ गलत व्यवहार के बाद मोबाइल चुराने के आरोप लगे हैं। खबरों के अनुसार दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्री्य हवाई अड्डे से 53 मोबाइल चुराने के आरोप में गो एयरवेज के 2 कर्मचारियों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस के अनुसार आरोपी कर्मचारियों ने यात्री बनकर पिछले एक महीने में एयरपोर्ट से 53 मोबाइल चुराए हैं। इन कर्मचारियों का काम विमानों से यात्रियों के सामानों को अनलोड कराना था। 

गौरतलब है कि गो एयरवेज के कर्मचारियों पर पहले भी यात्रियों के साथ बदसलूकी करने का आरोप लगा है। फिलहाल गो एयर नाम की विमानन कंपनी में बतौर एग्जीक्यूटिव काम करने वाले इन दोनांे कर्मचरियों पर फोन चुराने के बाद एक बैग और कन्वेयर बेल्ट में फोन रखकर यात्री बनकर एयरपोर्ट से निकल जाने का आरोप लगाया गया है। 

ये भी पढ़ें - अन्ना ने टाली अपनी भूख हड़ताल, मंत्री से मिलने के बाद तेवर पड़े नरम


यहां बता दें कि दोनों अधिकारी गो एयर में रैम्प ऑफिसर के पद पर तैनात हैं। दोनों की पहचान सचिन मानव (30) जोकि 2011 से यहां काम कर रहा है और सतीष पाल (40) जो 2015 से यहां तैनात है के रूप में हई है। आईजीआई एयरपोर्ट के डीसीपी संजय भाटिया ने बताया कि दोनों के खिलाफ 19 सितंबर को मामला दर्ज कराया गया था। बाद में उनके पास से 53 मोबाइल मिले थे। हालांकि पकड़े जाने के बाद अधिकारी ने यात्री होने का दावा किया था। 

गौर करने वाली बात है कि पुलिस को मोबाइल का पता लगाने के लिए टेक्निकल सर्विलांस का सहारा लेना पड़ा। इस सर्विलांस में चोरी किए गए मोबाइल की लोकेशन एयरो सिटी मिली। यहां पर पुलिस ने छापा मारा तो दोनों अधिकारी चोरी किए गए फोन का इस्तेमाल करते पकड़े गए। 

 

Todays Beets: