Sunday, February 17, 2019

Breaking News

   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||

गो एयरवेज के 2 कर्मचारी बने ‘चोर’, पुलिस ने 53 मोबाइल के साथ धरा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
गो एयरवेज के 2 कर्मचारी बने ‘चोर’, पुलिस ने 53 मोबाइल के साथ धरा

नई दिल्ली। हवाई कंपनी गो एयरवेज के कर्मचारियों पर यात्रियों के साथ गलत व्यवहार के बाद मोबाइल चुराने के आरोप लगे हैं। खबरों के अनुसार दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्री्य हवाई अड्डे से 53 मोबाइल चुराने के आरोप में गो एयरवेज के 2 कर्मचारियों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस के अनुसार आरोपी कर्मचारियों ने यात्री बनकर पिछले एक महीने में एयरपोर्ट से 53 मोबाइल चुराए हैं। इन कर्मचारियों का काम विमानों से यात्रियों के सामानों को अनलोड कराना था। 

गौरतलब है कि गो एयरवेज के कर्मचारियों पर पहले भी यात्रियों के साथ बदसलूकी करने का आरोप लगा है। फिलहाल गो एयर नाम की विमानन कंपनी में बतौर एग्जीक्यूटिव काम करने वाले इन दोनांे कर्मचरियों पर फोन चुराने के बाद एक बैग और कन्वेयर बेल्ट में फोन रखकर यात्री बनकर एयरपोर्ट से निकल जाने का आरोप लगाया गया है। 

ये भी पढ़ें - अन्ना ने टाली अपनी भूख हड़ताल, मंत्री से मिलने के बाद तेवर पड़े नरम


यहां बता दें कि दोनों अधिकारी गो एयर में रैम्प ऑफिसर के पद पर तैनात हैं। दोनों की पहचान सचिन मानव (30) जोकि 2011 से यहां काम कर रहा है और सतीष पाल (40) जो 2015 से यहां तैनात है के रूप में हई है। आईजीआई एयरपोर्ट के डीसीपी संजय भाटिया ने बताया कि दोनों के खिलाफ 19 सितंबर को मामला दर्ज कराया गया था। बाद में उनके पास से 53 मोबाइल मिले थे। हालांकि पकड़े जाने के बाद अधिकारी ने यात्री होने का दावा किया था। 

गौर करने वाली बात है कि पुलिस को मोबाइल का पता लगाने के लिए टेक्निकल सर्विलांस का सहारा लेना पड़ा। इस सर्विलांस में चोरी किए गए मोबाइल की लोकेशन एयरो सिटी मिली। यहां पर पुलिस ने छापा मारा तो दोनों अधिकारी चोरी किए गए फोन का इस्तेमाल करते पकड़े गए। 

 

Todays Beets: