Friday, April 26, 2019

Breaking News

   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||

रेलवे की नई पहल हिन्दी में ही आवेदन देने पर मिलेगी छुट्टी

प्रियंका गुप्ता
रेलवे की नई पहल हिन्दी में ही आवेदन देने पर मिलेगी छुट्टी

जमशेदपुर। मातृ भाषा हिन्दी को बढ़वा देने के लिए जमशेदपुर के चक्रधरपुर मंडल में एक नई पहल शुरू की है। इसके तहत रेलवे कर्मचारियों को काम से विभागीय से छुट्टी लेने के लिए हिन्दी में ही आवेदन करना होगा। अंग्रेजी में दिए गए आवेदनों के स्वीकार नहीं किया जाएगा। बता दें कि सीनियर डीसीएम भास्कर के प्रयास के कारण रेल मंडल के वाणिज्य विभाग में ये नई पहल पुरी तरह शुरू हो गई है। वहीं हिन्दी को बढ़वा देने के लिए लोक एंव क्रर्मिक समेत अन्य विभागों में भी हिन्दी में काम करने पर जोर दिया जा रहा है।

रेलवे देता है पुरस्कार

हिन्दी में काम करने वाले कर्मचारियों को रेलवे पुरस्कार दे कर सम्मानित करता है।  टाटानगर में बुकिंग क्लर्क से लेकर कई अधिकारियों को हिन्दी के कारण पुरस्कार मिला है। यहा तक की टिकट निरीक्षक कक्ष में ड्यूटी रोस्टर तक हिन्दी में बनया जा है। 

हिन्दी का कर रहें प्रचार-प्रसार


हिन्दी भाषा के प्रचार-प्रसार के लिए रेलवे राज्यभाषा विभाग व अधिकारियों को नियुक्त किया गया हैं जो अलग – अलग स्टेशनों पर घूम-घूम कर इसका प्रचार और संगोष्ठी करते हैं। इसके साथ ही टाटानगर स्टेशन पर एक पुस्तकालय खोला गया है जहां इससे संबधिंत कार्यक्रम किए जाते हैं।

प्राप्त नहीं ऑनलाइन सुविधा

छुट्टी के लिए रेलवे में ऑनलाइन व्यवस्था न तो अब तक शुरू हुई है और न ही रेलवे बोर्ड से अब तक कोई आदेश मिला है। चक्रधरपुर मंडल मेंस कांग्रेस के संयोजक शशि मिश्रा ने बताया कि छुट्टी हमेशा विभाग या सेक्शन के सुपरवाइजर देते हैं। कंप्यूटराइज्ड न होने के कारण ऑनलाइन सुविधा नहीं है। हिन्दी में रेलकर्मी आवेदन देने लगे हैं, क्योंकि अंग्रेजी से ज्यादा सरल हैं। 

 

Todays Beets: