Thursday, October 19, 2017

Breaking News

   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||

इन बैंकों के ग्राहक बदल लें अपनी चेक बुक, 30 सितंबर के बाद चेक और आईएफएससी कोड नहीं होंगे मान्य

अंग्वाल न्यूज डेस्क
इन बैंकों के ग्राहक बदल लें अपनी चेक बुक, 30 सितंबर के बाद चेक और आईएफएससी कोड नहीं होंगे मान्य

नई दिल्ली । भारतीय स्टेट बैंक ने अपने ग्राहकों के लिए एक संदेश जारी किया है। हालांकि यह संदेश एसबीआई ने अपने पूर्व सहायक बैंकों के ग्राहकों को नई चेकबुक लेने के संदर्भ में किया है। बैंक ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर जानकारी देते हुए लिखा है कि 1 अप्रैल को जिन छह सहायक बैंकों का उसमें विलय हुआ है, उनकी पुरानी चेकबुक और उनकी शाखाओं के इंडियन फाइनेंशियल सिस्टम कोड (आईएफएससी) 30 सितंबर के बाद मान्य नहीं रहेंगे। ऐसे में समय रहते वह नई चैक बुक ले लें, नहीं तो आने वाले दिनों में उन्हें उन्हें बैंकिग संबंधी असुविधाओं का सामना करना पड़ सकता है। 

बता दें कि गत 1 अप्रैल से एसबीआई में स्टेट बैंक ऑफ पटियाला, स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर, स्टेट बैंक ऑफ मैसूर, स्टेट बैंक ऑफ त्रावणकोर, स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद और भारतीय महिला बैंक का विलय हुआ था। अब SBI ने अपने इन सहायक बैंको से आए ग्राहकों को सूचना देते हुए कहा है कि वे इंटरनेट, मोबइल बैंकिंग, एटीएम या मुख्य शाखा जाकर नई चेकबुक लेने का अनुरोध करें। विदित हो कि एसबीआई ने 2016 में अपने पांच सहायक बैंकों और भारतीय महिला बैंक के विलय को मंजूरी दी थी। केंद्रीय कैबिनेट ने इस पर इस साल फरवरी में मुहर लगा दी। 

Todays Beets: