Monday, November 20, 2017

Breaking News

   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||   अजहर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित नहीं करेगा चीन, प्रस्ताव पर रोक लगाने के संकेत     ||   दुनिया की सबसे लंबी सुरंग बनाकर चीन अब ब्रह्मपुुत्र नदी का पानी रोकने का बना रहा है प्लान     ||   पीएम मोदी को शीला दीक्षित ने दिया जवाब- हमने नहीं भुलाया पटेल का योगदान    ||   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||

आम आदमी पार्टी की गर्भवती महिला विधायक ने एलजी ऑफिस पर लगाए आरोप, कहा- दवाएं तक नहीं लेने दी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
आम आदमी पार्टी की गर्भवती महिला विधायक ने एलजी ऑफिस पर लगाए आरोप, कहा- दवाएं तक नहीं लेने दी

नई दिल्ली । आम आदमी पार्टी की एक गर्भवती विधायक सरिता सिंह ने एलजी आफिस पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उनका कहना है कि मैं सात माह की गर्भवती हूं, बावजूद इसके एलजी ऑफिस ने मुझे दवाइयां नहीं खाने दी और न ही मुझे खाना खाने की अनुमति नहीं दी गई। बता दें कि सरिता आम आदमी पार्टी के उन विधायकों में शामिल थी, जिन्होंने गुरुवार को राज निवास पर घंटो डेरा डाला हुआ था। हालांकि राजनिवास के एक अधिकारी ने इन आरोपों पर कहा है कि विधायक ने उन्हें सूचित नही किया था उन्हें दवाई या भोजन की आवश्यकता है। 

आप विधायक सरिता सिंह ने अपने साथ हुए व्यवहार के लिए एक पत्र एलजी अनिल बैजल को लिखा है। इस खत में उन्होंने कहा- आपके अधिकारियों ने कहा कि यह उपराज्यपाल का आदेश है कि हमें कुछ भी नहीं दिया जाना चाहिए। हालांकि हमनें पीने के लिए पानी और चाय दिए जाने का बार-बार अनुरोध किया लेकिन हमें कुछ भी खाने को नहीं दिया गया। सरिता का कहना है कि मैं सात महीने की गर्भवती हूं, ऐसे में विधायक अलका लाम्बा, सोमनाथ भारती ने एलजी कार्यालय के स्टाफ से अनुरोध किया कि उन्हें कार से दवाइयां और भोजन लाने की अनुमति दी जाए, लेकिन एलजी कार्यालय ने इसकी अनुमति नहीं दी। 


हालांकि इन आरोपों पर राजनिवास के एक अधिकारी ने कहा कि उन्हें इस प्रकार की किसी बात का कोई आग्रह नहीं किया गया। उन्होंने कहा कि राज निवास में एक एंबुलेंस का भी एहतियातन प्रबंध किया गया था और महिला एवं पुरूष चिकित्सक भी मौजूद थे। 

Todays Beets: