Friday, July 20, 2018

Breaking News

   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||   नीतीश का गठबंधन को जवाब कहा गठबंधन सिर्फ बिहार में है बाहर नहीं     ||   जापान में बारिश का कहर जारी 100 से ज्यादा लोगों की मौत     ||   PM मोदी के नोएडा दौरे से पहले लगा भारी जाम, पढ़ें पूरी ट्रैफिक एडवाइजरी     ||    नीतीश ने दिए संकेत: केवल बिहार में है भाजपा और जदयू का गठबंधन, राष्ट्रीय स्तर पर हम साथ नहीं    ||   निर्भया मामले में तीनों दोषियों को होगी फांसी, सुप्रीम कोर्ट ने याचिका ठुकराई    ||   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||

भारत का पहला world heritage city बना गुजरात का अहमदाबाद, यूनेस्को ने दिया प्रमाण-पत्र

अंग्वाल संवाददाता
भारत का पहला world heritage city बना गुजरात का अहमदाबाद, यूनेस्को ने दिया प्रमाण-पत्र

अहमदाबाद। गुजरात के शहर अहमदाबाद को देश की सबसे पहले वर्ल्ड हेरीटेड सिटी को वैश्विक स्तर पर मान्यता दी गई है। यूनेस्को की वर्ल्ड हेरीटेज कमेटी ने शुक्रवार को अहमदाबाद को वैश्विक धरोहर शहर प्रमाणित कर मुख्यमंत्री विजय रुपानी को प्रमाणपत्र सौंपा है। आपको बता दें कि यूनेस्को वर्ल्ड हेरिटेज कमेटी के 41वें सेशन में अहमदाबाद को भारत के पहले वैश्विक धरोहर वाले शहर के रुप में मान्यता देते हुए यह देश का पहला ऐतिहासिक घरोहर वाला शहर घोषित किया है। गुजरात के सीएम ने अहमदाबाद को वर्ल्ड हेरिटेज सिटी  का प्रमाणपत्र मिलने पर खुशी जाहिर की। 

यह भी पढ़े- आम आदमी पार्टी की गर्भवती महिला विधायक ने एलजी ऑफिस पर लगाए आरोप, कहा- दवाएं तक नहीं लेने दी

 


उन्होंने कहा कि अब हमारी जिम्मेदारियां और बढ़ गई हैं। पिछले 600 सालो से यह एक शांतिप्रिय शहर के रुप में पहचाना जाता रहा है। यही वो शहर है जहां से महात्मा गांधी ने अंग्रेजों से देश को आजाद करने के लिए स्वतंत्रता संग्राम की शुरुआत की थी। यूनेस्को की डायरेक्ट जनरल इनिरिया वोकोबो ने कहा कि अहमदाबाद में ऐसे हिंदू और जैन मंदिर हैं जिनकी नक्कशी काफी सुंदर है।

यह भी पढ़े- पाकिस्तान में आतंकी संगठनों ने अंतरराष्ट्रीय दबाव से बचने के लिए अपना ये अनोखा रास्ता 

Todays Beets: