Sunday, December 16, 2018

Breaking News

   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||

अमेरिका के लोगों से धोखाधड़ी पड़ी महंगी, 20 भारतीय मूल के लोगों को हुई 20 साल की जेल 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
अमेरिका के लोगों से धोखाधड़ी पड़ी महंगी, 20 भारतीय मूल के लोगों को हुई 20 साल की जेल 

नई दिल्ली। अमेरिका में एक बड़े काॅल सेंटर घोटाले का खुलासा हुआ है। बड़ी बात यह है कि इसमें करीब 20 भारतीय मूल के लोगों को 20 साल जेल की सजा सुनाई गई है। सजा पूरी होने के बाद इन सभी लोगों को भारत वापस भेज दिया जाएगा। अमेरिका के अटाॅनी जनरल ने इसे धोखाधड़ी के खिलाफ एक बड़ी जीत बताया है। ऐसा कहा जा रहा है कि ये लोग काॅल सेंटर की धोखाधड़ी में शामिल थे और अमेरिकी बुजुर्गों और नौजवानों को आर्थिक लाभ की योजनाएं बताकर उनसे लाखों डाॅलर ऐंठते थे। 

गौरतलब है कि अमेरिकी सरकार अपने नागरिकों को इस तरह की धोखाधड़ी से बचने की सलाह देती रहती है लेकिन इसके बावजूद काॅल सेंटरों ने फोन धोखाधड़ी कर लोगों से काफी पैसे ठगे हैं। इस तरह के कॉल सेंटर्स को भी बंद किया जा रहा है और जो भी इसमें दोषी पाए जा रहे हैं, उन्हें सख्त से सख्त सजा दी जा रही है।  अभियोजन पक्ष का कहना है कि भारतीय कॉल सेंटरों ने बुजुर्गों और कानूनी आप्रवासियों सहित मुख्य रूप से कमजोर वर्ग के लोगों को धोखा देने के लिए विभिन्न टेलीफोन धोखाधड़ी योजनाओं का इस्तेमाल किया। डाटा ब्रोकर और अन्य स्रोतों से जानकारी प्राप्त कर कॉल सेंटर संचालक अमेरिकी लोगों को अपना शिकार बनाते हैं। काॅल सेंटरों के द्वारा टेलीफ्राॅड के मामले पर इसी हफ्ते सुनवाई करते हुए अमेरिकी अदालत ने एक बड़ा फैसला लिया है।


ये भी पढ़ें - पिछली सरकार घड़ियाली आंसू बहाती रही, हमने बंद कारखानों को चालू करने का बीड़ा उठाया हैः प्रधानमं...

यहां बता दें कि अमेरिका के लोगों से धोखाधड़ी में दोषी पाए गए कुल 21 लोगों को सजा सुनाई गई है। बताया जा रहा है कि इसमें से ज्यादातर भारतीय मूल के हैं और  इन्हें 4 से 20 साल की सजा सुनाई गई है। सजा पूरी होने के बाद इन सभी लोगों को भारत वापस भेज दिया जाएगा। 

Todays Beets: