Tuesday, March 26, 2019

Breaking News

    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||

इस बार केजरीवाल नहीं लड़ेंगे लोकसभा का चुनाव, दिल्ली की समस्याओं पर रखेंगे नजर

अंग्वाल न्यूज डेस्क
इस बार केजरीवाल नहीं लड़ेंगे लोकसभा का चुनाव, दिल्ली की समस्याओं पर रखेंगे नजर

नई दिल्ली। पिछली बार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ वाराणसी से चुनाव लड़ने वाले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को एक बड़ा ऐलान किया है। केजरीवाल ने कहा कि इस बार वे लोकसभा का चुनाव नहीं लड़ेंगे और दिल्ली पर ही फोकस करेंगे। बता दें कि बनारस से चुनाव लड़ने पर केजरीवाल को विपक्षी नेताओं ने उन्हें भगोड़ा तक करार दिया था। फतेहाबाद में उन्होंने पराली जलाने के लिए किसानों के बजाय भाजपा और पड़ोसी राज्यों को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने कहा कि वे पंजाब और हरियाणा के मुख्यमंत्रियों के चक्कर काटकर थक चुके हैं लेकिन कोई हल नहीं निकला।

गौरतलब है कि साल 2014 में अरविंद केजरीवाल नरेन्द्र मोदी के खिलाफ वाराणसी से चुनाव लड़े थे और हार गए थे। इसके बाद विपक्षी दलों ने उनकी कड़ी आलोचना करते हुए उन्हें भगोड़ा तक करार दिया था। इसके बाद इस बार उन्होंने लोकसभा चुनाव नहीं लड़ने का फैसला लिया है। 

ये भी पढ़ें - सीएम योगी ने राममंदिर निर्माण का दिया संकेत! बोले- दीपावली पर खुशखबरी लेकर आ रहा हूं, जल्द कु...


यहां बता दें कि अरविंद केजरीवाल ने इस पर दिल्ली की समस्याओं पर ही अपना ध्यान केंद्रित करने का फैसला लिया है। उन्होंने कहा कि फिलहाल पराली जलाने के चलते हो रहा प्रदूषण एक बड़ी समस्या है। केजरीवाल ने पराली जलाने के लिए किसानों के बजाय राजनीतिक दलों को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने कहा कि इस समस्या के निदान के लिए वे केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन से लेकर पंजाब और हरियाणा के मुख्यमंत्रियों से मुलाकात कर चुके हैं लेकिन इसका कोई हल नहीं निकल सका।  

 

Todays Beets: