Thursday, January 17, 2019

Breaking News

   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||

लोकसभा चुनाव 2019ः बिहार में कौन सी सीट किसे मिलेगी, अब एनडीए के सामने नई चुनौती

अंग्वाल न्यूज डेस्क
लोकसभा चुनाव 2019ः बिहार में कौन सी सीट किसे मिलेगी, अब एनडीए के सामने नई चुनौती

नई दिल्ली। आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर बिहार में एनडीए और जनता दल युनाटेड के बीच सीटों का बंटवारा लगभग तय माना जा रहा है। अब नई चुनौती यह सामने आ रही है कि कौन सी सीट पर कौन लड़ेगा। राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के गठबंधन से अलग होने के बाद उनकी 2 सीटें भी रामविलास पासवान की लोक जनशक्ति पार्टी को मिलने वाली है। बता दें कि पिछले दिनों हुई बातचीत के आधार पर भाजपा और जदयू दोनों ही बराबर सीटों पर चुनाव लड़ने का फैसला लिया है। अब उपेन्द्र कुशवाहा के अलग होने के बाद रामविलास पासवान की पार्टी को 4 सीट मिलने की संभावना बढ़ गई है।

गौरतलब है कि बिहार में सीटों के बंटवारे पर सहमति नहीं बनने की वजह से गठबंधन की सहयोगी, राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के मुखिया उपेन्द्र कुशवाहा ने गठबंधन का साथ छोड़ दिया है। बता दें कि गठबंधन से अलग होने के बाद कुशवाहा ने भाजपा अध्यक्ष और पीएम पर काफी हमले किए। कुशवाहा ने गठबंधन से अलग होने से पहले भाजपाध्यक्ष और प्रधानमंत्री से मिलने का वक्त मांगा था लेकिन समय नहीं मिलने पर उन्होंने भाजपा पर तंज करते हुए कहा कि ‘‘जब नाश मनुज पर छाता है पहले विवेक मर जाता है’’। 

ये भी पढ़ें - मुख्यमंत्री की कुर्सी संभालते ही कमलनाथ ने बिहार और यूपी पर साधा निशाना, कहा- इनकी वजह से मध्...


आपको बता दें कि अब रालोसपा के अलग होने का फायदा लोक जनशक्ति पार्टी को मिल सकता है। गौर करने वाली बात है कि पिछले दिनों भाजपा अध्यक्ष और नीतीश कुमार की मुलाकात के बाद इस बात का निर्णय लिया था कि वे दोनों ही बराबर सीटों पर चुनाव लड़ेंगे। अब बड़ी चुनौती यह है कि कौन-कौन सी सीटों पर चुनाव लड़ेगा। 

  

Todays Beets: