Tuesday, October 16, 2018

Breaking News

   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||   सुप्रीम कोर्ट ने कठुआ मामले में सीबीआई जांच की अर्जी को खारिज किया    ||   मध्यप्रदेश सरकार ने पांच नए सूचना आयुक्त चुने, राज्यपाल को भेजी सिफारिश     ||   बिहार: ASI संग शराब बेच रहा था थानेदार, अरेस्ट     ||

ऑनलाइन शापिंग करने वाले हो जाएं सावधान, बंपर सेल में सामान खरीदने से पहले करें पड़ताल,  पहले जरा ये भी पढ़ लें...

अंग्वाल न्यूज डेस्क
ऑनलाइन शापिंग करने वाले हो जाएं सावधान, बंपर सेल में सामान खरीदने से पहले करें पड़ताल,  पहले जरा ये भी पढ़ लें...

नई दिल्ली । फेस्टिवल सीजन आने के साथ ही ऑनलाइन शॉपिंग पोर्टल ने ग्राहकों को लुभाने के लिए बंपर सेल का लुभावना ऑफर देना शुरू कर दिया है। लेकिन अगर आप भी इस भारी छूट का लाभ उठाने की योजना बनाए बैठे हैं तो इस रिपोर्ट को जरूर पढ़ लें। असल में पिछले दिनों देश के कई हिस्सों में हुई छापेमारी में सामने आया है कि देश के कुछ ऑनलाइन शॉपिंग पोर्टल पर नकली सामान बेचा जा रहा है। वहीं विशेषज्ञों का कहना है कि ग्राहक इस बंपर छूट के दिखावे में न आएं और शॉपिंग करने से पहले अपने लाभ को पूरी तरह से जांच परख लें। कुछ ऑनलाइन शॉपिंग पॉर्टल ग्राहकों को अपने प्लेटफॉर्म पर लागने के लिए महज इस तरह की बंपर छूट का दिखावा करते हैं, जबकि इससे ग्राहकों को कोई लाभ नहीं होता। 

बंपर छूट ज्यादा खरीदारी को करती है प्रेरित

विशेषज्ञों का कहना है कि मौजूदा समय में जब मॉल से शॉपिंग के बजाए लोग ऑनलाइन शॉपिंग को ज्यादा तरजीह दे रहे हैं, ऐसे में उन्हें इन ऑनलाइन शॉपिंग प्लेटफॉर्म के ऑफर की अच्छी तरह से जांच पड़ताल कर लेनी चाहिए। असल में ये बंपर सेल ग्राहकों को ज्यादा खरीदारी के लिए प्रेरित करती हैं। ग्राहक ज्यादा खरीदारी कर ज्यादा बचत की बात करते हैं , लेकिन जानकारों का कहना है कि बंपर सेल इन प्लेटफॉर्म द्वारा अपनी ब्रिकी बढ़ाने का एक तरीका है। अधिकांश मामलों में इससे लोगों को ज्यादा लाभ नहीं होता।

छूट पर ब्रांड-गुणवत्ता के दावों को परखना जरूरी

पिछले दिनों देश के कुछ हिस्सों में हुई छापेमारी के बाद सामने आया है कि वहां से नकली सामान को ऑनलाइन शॉपिंग प्लेटफॉर्म की मदद से बेचा जा रहा था। इसमें स्पोर्ट्स के सामान से लेकर ब्रांडेड कपड़े और कई तरह के सामान के शामिल होने की बात सामने आई थी। ऐसे में जब भी आप किसी ऑनलाइन शॉपिंग प्लेटफॉर्म से कुछ खरीदारी करें तो आप अपनी दी गई रकम के बदले सामान के ब्रांड और उसकी गुणवत्ता के बारे में अच्छे से जांच पड़ताल जरूर कर लें। ब्रांडेड सामान के नाम पर कई जगहों पर नकली सामान बेचा जा रहा है, जो आपको कुछ मामलों में परेशानी में भी डाल सकता है।

फ्लैश सेल का है बड़ा खेल

असल में कई ऑनलाइन शॉपिंग फ्लेटफॉर्म पर फ्लैश सेल कंपनी की एक रणनीति का हिस्सा होती है। कुछ घंटों के लिए मिलने वाली बंपर सेल के ऑफर के अंतर्गत सामान का मूल्य निर्धारण डायनमिक तौर पर होता है। कई बार जब तब आप सामान सामान बुक करते हैं तब तक सामान की कीमतें बदल चुकी होती हैं।  

कैशबैक से जुड़ी होती है शर्तें

इसी क्रम में कई बार आप जब सामान खरीदते हैं तो उसमें आपको कैशबैक की सुविधा मिलती है, लेकिन यह सुविधा आपको नकद रूप में न होकर , आपको  कुछ प्लाइंट के रूप में होती है, जो अगली खरीदारी (एक निर्धारित मात्रा से ज्यादा करने पर)  करने पर आपको कुछ छूट के रूप में मिलती है। इसके लिए आपको उसी ऑनलाइन शॉपिंग प्लेटफॉर्म पर लौटकर आना होता है। 

पुलिस के हत्थे चढ़े दिल्ली को दहलाने वाले 3 कश्मीरी आतंकी, जालंधर के इंजीनिरिंग काॅलेज से दबोचा

खराब गुणवत्ता के सामान की शिकायतें


पिछले कुछ समय में इन ऑनलाइन शॉपिंग प्लेटफॉर्म से खराब सामान ग्राहकों तक पहुंचने की खबरें भी आती रही हैं। कई बार जो प्रोडक्ट , ऑनलाइन दिखाई देता है, जब वह ग्राहक तक पहुंचता है तो वह काफी खराब गुणवत्ता का होता है। ऐसे में लोगों का समय भी बर्बाद होता है और कई बार अंतिम समय में उनका प्लान भी चौपट होता है।

अवैध फैक्ट्रियों को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने उपराज्यपाल को लगाई फटकार, 15 दिनों के अंदर बंद करने के आदेश

पुराने सामान पर ज्यादा छूट

ऑनलाइन शॉपिंग प्लेटफॉर्म के लिए पिछले 3 सालों से काम कर रहे एक व्यक्ति ने नाम ने छापने की शर्त पर बताया कि अमूमन सामान पर ज्यादा छूट पूराने स्टॉक पर मिलती है। प्लटफॉर्म किसी प्रोडक्ट पर भारी डिस्काउंट तब भी देता है जब उसके पास पीछे से सस्ता और पुराने स्टॉक का माल उसे मिल रहा हो। इस सब के बीच कई सामान के पुराने स्टॉक से जुड़े होने की बात एक ग्राहण पता भी नहीं पाता। 

नेतागिरी सिखाने के लिए गाजियाबाद में खुल रहा देश का पहला ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट, जमीन अधिग्रहण पूरा, दो साल में बनकर होगा तैयार

युवा खासकर आकर्षित हो रहे हैं...

हाल में एक सर्वे में सामने आया है कि देश के युवा किसी मॉल में जाकर शॉपिंग करने से बेहतर ऑन लाइन शॉपिंग करने को मानते हैं । ऐसे में करोड़ों की लागत से बने शॉपिंग मॉल का अस्तित्व खतरे में आ रहा है। लोग मॉल में बने शोरूम से विंडो शॉपिंग करते हैं और बाद में ऑनलाइन पर जाकर उस प्रोडक्ट को खोजते हैं। 

दिल्ली में धर्म के आधार पर बांटी गई क्लास, प्रिंसिपल सस्पेंड, जांच के आदेश

महिलाएं कपड़े तो युवा गैजेट्स खरीद रहे

हाल की कुछ रिपोर्ट्स में सामने आया है कि महिलाएं इन ऑनलाइन शॉपिंग प्लेटफॉर्म से ज्यादातर कपड़े ही खरीदती हैं, जबकि युवा गैजेट्स खरीदने के लिए इन प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल करते हैं। 

भीड़ की हिंसा से निपटने में कारगर होगा ड्रोन, करेगा खुजली वाली बारिश

Todays Beets: