Saturday, February 23, 2019

Breaking News

   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||

भाजपा का अखिलेश पर तीखा हमला, कहा-अपने पिता और चाचा की पीछ में घोंपा छूरा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
भाजपा का अखिलेश पर तीखा हमला, कहा-अपने पिता और चाचा की पीछ में घोंपा छूरा

लखनऊ। उत्तरप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर भारतीय जनता पार्टी ने पलटवार किया है। भाजपा का कहना है कि अखिलेश को सरकार की योजनाओं के तथ्यों के बारे में कुछ पता नहीं होता है वे सिर्फ विश्वासघात करना जानते हैं। भाजपा की ओर से कहा गया है कि विधानसभा में मिली करारी हार से वे अभी तक उबर नहीं पाए हैं इसी वजह से सरकार पर तथ्यहीन आरोप लगाते रहते हैं। भाजपा के प्रवक्ता डॉक्टर चंद्रमोहन ने तो उनपर अपने चाचा की पीठ में छूरा घोपने का आरोप तक लगाया है। 

गौरतलब है कि अखिलेश यादव ने कुछ दिनों पहले केंद्र सरकार की योजना के बारे में गलत ट्वीट किया था जिसकी नीति आयोग के अधिकारी ने ही पोल खोल दी थी। भाजपा प्रवक्ता डाॅक्टर चंद्रमोहन ने अखिलेश यादव को स्वस्थ राजनीति करनी नहीं आती है। भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि उनके जैसे नाकाबिल नेता को पिता और चाचा ने राजनीति में खड़ा किया और उन्होंने उनकी पीठ में ही छूरा भोंक दिया।


ये भी पढ़ें - नौकरी छोड़ने की चेतावनी का घाटी के नौजवानों ने दिया करारा जवाब, एसपीओ में भर्ती के लिए 10 हजार...

यहां आपको बता दें कि भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि ‘यूज एंड थ्रो’ की राजनीति करने वाले अखिलेश ने सपा के सैकड़ों वरिष्ठ नेताओं को पार्टी से बाहर कर दिया। सभी चापलूसों को अपनी गोद में बिठा लिया। अब वह बसपा की तरफ हाथ जोड़े खड़े हैं ताकि लोकसभा के अगले चुनाव में उनकी पार्टी को कुछ वोट मिल जाएं। 

Todays Beets: