Thursday, January 17, 2019

Breaking News

   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||

लोकसभा चुनाव में होगा ‘कांग्रेस-आप’ का संभावित गठबंधन, ऐसे निपटेगी भाजपा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
लोकसभा चुनाव में होगा ‘कांग्रेस-आप’ का संभावित गठबंधन, ऐसे निपटेगी भाजपा

नई दिल्ली। आगामी लोकसभा चुनाव में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के बीच गठबंधन के कयासों से निपटने के लिए भारतीय जनता पार्टी ने भी अपनी तैयारी तेज कर दी है। भाजपा ने अपने कार्यकर्ताओं के लिए हर बूथ से 50 फीसदी वोट लाने का लक्ष्य रखा है। इसके साथ ही एक अन्य रणनीति भी बनाई है। भाजपा के राष्ट्रीय संगठन के महामंत्री रामलाल ने कहा कि दिसंबर, जनवरी और फरवरी में सघन प्रचार अभियान की योजना बनाई गई है। रामलाल ने कार्यकर्ताओं को ‘बूथ जीता तो चुनाव जीता’ और ‘मेरा बूथ सबसे मजबूत’ का नारा भी दिया। बड़ी बात यह है कि कांग्रेस का कोई भी बड़ा नेता ‘आप’ से गठबंधन के बारे में अपना मुंह नहीं खेल रहा है। 

गौरतलब है कि भाजपा की रणनीति के तहत हर बूथ से 5 मोटरसाइकिल वाले कार्यकर्ता और 5 ऐसे परिवार से मिलने की योजना बनाई है जिसने भाजपा को वोट नहीं दिया है। भारतीय जनता पार्टी के द्वारा मध्यप्रदेश की तर्ज पर कार्यकर्ता के घरों पर पार्टी का झंडा और कमल दीपोत्सव मनाने की योजना भी बनाई जा रही है। महिला कार्यकर्ताओं के लिए कमल मेंहदी कार्यक्रम का आयोजन भी किया जाएगा। 

ये भी पढ़ें - Live: पूर्व पाकिस्तानी प्रधानमंत्री पर चला कानून का ‘डंडा’, भ्रष्टाचार मामले में 7 साल की सजा...


यहां बता दें कि हाल ही में संपन्न हुए 5 राज्यों के चुनावों में पार्टी की हार से सबक लेते हुए कहा गया है कि पार्टी हर उस बूथ का अध्ययन करेगी जहां, लोकसभा, विधासभा या नगर निगम का चुनाव नहीं जीती है। सभी कार्यकर्ताओं को राष्ट्रीय मुद्दों को प्रमुखता से रखने के निर्देश दिए गए हैं। इसमंे राष्ट्रवाद और पाकिस्तान के प्रति भारत के आक्रामक रवैया को शामिल किया गया है। इसके साथ ही दिल्ली सरकार के हर वादे को सिर्फ झूठ बताने की भी तैयारी की जा रही है। 

 

Todays Beets: