Friday, December 15, 2017

Breaking News

   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद     ||   अश्विन ने लगाया विकेटों का सबसे तेज 'तिहरा शतक', लिली को छोड़ा पीछे     ||   पूरा हुआ सपना चौधरी का 'सपना', बेघर होने के साथ बॉलीवुड से मिला बड़ा ऑफर    ||   PAK सरकार ने शर्तें मानीं, प्रदर्शन खत्म करने कानून मंत्री को देना पड़ा इस्तीफा    ||   मैदान पर विराट के आक्रामक रवैये पर राहुल द्रविड़ को सताई चिंता     ||

तीन दोस्तों ने मिलकर बनाया देश का पहला आॅनलाइन मेमोरियल, बस एक क्लिक से मिलेगी जानकारी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
तीन दोस्तों ने मिलकर बनाया देश का पहला आॅनलाइन मेमोरियल, बस एक क्लिक से मिलेगी जानकारी

चंडीगढ़। देश की रक्षा में अपना सर्वोच्च बलिदान देने वाले शहीदों को कुछ दिनों के बाद अक्सर लोग भूलने लगते हैं। उनकी शहादत को याद रखने के साथ उनके बारे में अब पूरी जानकारी हासिल हो पाएगी। जी हां, चंडीगढ़ में भारतीय वायुसेना से सेवानिवृत्त हो चुके तीन दोस्तों ने मिलकर देश का पहला आॅनलाइन मेमोरियल ‘ऑनर प्वाइंट’ तैयार किया है। इस वेबसाइट पर आप 1947 से लेकर अब तक सभी शहीदों के बारे में बस एक क्लिक के जरिए जानकारी हासिल कर पाएंगे। इस वेबसाइट पर बड़ी संख्या में लोग अपने हीरोज को श्रद्धांजलि दे रहे हैं।

तीन दोस्तों ने तैयार किया पोर्टल

गौरतलब है कि वायुसेना से सेवानिवृत्त हुए बंगलुरु के एमए अफराज, बिहार के राजेन्द्र प्रसाद और एलके चौबे को जब इस बात का पता चला कि विदेशों में शहीदों के बारे में सारी जानकारी इंटरनेट पर उपलब्ध है और लोग वहां से उनके बारे में पढ़ते हैं। इसके बाद इन तीनों दोस्तों ने भी ऐसा ही करने की सोची और जल -थल और वायुसेना के कई विशेषज्ञों की मदद से उन्होंने देश का पहला आॅनलाइन मेमोरियल पोर्टल तैयार किया। 


ये भी पढ़ें - भाजपा शासित छत्तीसगढ़ ने पेट्रोल-डीजल की कीमतें कम करने से किया इंकार, गुजरात और मुंबई में घटे दाम

45 हजार से ज्यादा लोग कर रहे फाॅलो

बड़ी बात यह है कि इस पोर्टल ‘आॅनर प्वाइंट’ पर करीब 12 हजार से ज्यादा शहीदों क बारे में जानकारी उपलब्ध है। इन तीनों दोस्तों का यह दावा है कि इस वेबसाइट पर ऐसी जानकारी भी उपलब्ध है जो सरकार के पास भी नहीं है। इस वेबसाइट को तैयार करने से लेकर इसे मेंटेन करने के लिए इन्होंने किसी से कोई आर्थिक मदद नहीं ली और अब तक करीब 30 लाख रुपये खर्च कर चुके हैं। फिलहाल इस पोर्टल को 45 हजार से ज्यादा लोग फाॅलो कर रहे हैं। अब कई शहीदों की प्रोफाइल को उनके परिजन की मेंटेन कर रहे हैं। इस आॅनलाइन मेमोरियल का कार्यालय बंगलुरु में खोला गया है जहां 11 तकनीकी विशेषज्ञ इस पोर्टल पर काम करते हैं। आज इस पोर्टल पर हजारों लोग अपने हीरोज को भावभीनी श्रद्धांजलि दे रहे हैं।

Todays Beets: