Thursday, September 21, 2017

Breaking News

   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||   पंचकूला से लंदन तक दिखा राम-रहीम विवाद का असर, ब्रिटेन ने जारी की एडवाइजरी    ||   PAK कोर्ट ने हिंदू लड़की को मुस्लिम पति के साथ रहने की मंजूरी दी    ||   बिहार आए पीएम मोदी, बाढ़ से हुई तबाही की गहन समीक्षा की    ||   जेल में ही वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए राम रहीम को सुनाई जाएगी सजा    ||   मच्छल में घुसपैठ नाकाम, पांच आतंकी ढेर, भारी मात्रा में गोलाबारूद बरामद    ||   जापान के बाद अब अमेरिका के साथ युद्धाभ्यास की तैयारी में भारत    ||

विधवाओं और दिव्यांगों से शादी करने पर सरकार देगी 2 लाख रुपये की प्रोत्साहन राशि 

अंग्वाल संवाददाता
विधवाओं और दिव्यांगों से शादी करने पर सरकार देगी 2 लाख रुपये की प्रोत्साहन राशि 

भोपाल। मध्यप्रदेश में विध्वा और दिव्यांग महिला व पुरुष से शादी करने पर सरकार की तरफ से दंपति को दो लाख रुपये की प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। इसी तरह अनाथ बच्चों के पालन पोषण के लिए पांच सौ रुपये प्रतिमाह देने की योजना को भी जल्द लाने और लागू करने की बात की जा रही है। सामाजिक न्याय मंत्री गोपाल भार्गव ने इन तीन बड़ी योजनाओं को लागू करने की सहमति दी है। सामाजिक न्याय विभाग के प्रमुख सचिव अशोक शाह ने तीनों योजनाओं के प्रस्ताव विभागीय मंत्री को भेजे थे। बैठक में शाह ने बताया कि विधवाएं  अमूमन समाज में उपेक्षा की शिकार हो जाती हैं।

यह भी पढ़े- हिंदी दिवस स्पेशल: कारोबार, पर्यटन सहित अब बाजार की मांग बन चुकी है हिंदी, बढ़ गया है विश्व म...

यदि कोई अविवाहित व्यक्ति किसी विधवा से विवाह करता है तो उस दंपति को प्रोत्साहन के रूप में दो लाख रुपये की राशि दी जाएगी। गोपाल भार्गव ने इस इस प्रस्ताव पर सहमति जताते हुए कहा कि ये कदम समाज की सोच में बदलाव लाएगा। इसी तरह दिव्यांग से सामान्य व्यक्ति या महिला शादी करती है तो उन्हें भी दो लाख रुपए दिए जाएंगे। साथ ही उन्होंने इस बात भी जोर दिया कि इस योजना का लाभ केवल वास्तविक दिव्यांगो को ही मिलेगा।


यह भी पढ़े-  इस दिव्यांग बच्चे का वीडियो देख आप हो जाएंगे भावुक, आनंद महिंद्रा ने वीडियो शेयर कर बताया प्र...

इसके लिए मेडिकेल बोर्ड का प्रमाण-पत्र होना अनिवार्य होगा। साथ ही भौतिक सत्यापन भी कराया जाएगा। विभाग ने प्रस्ताव दिया कि ऐसे नाबालिग बच्चे जो पूरी तरह अपने परिजनों पर निर्भर हैं, उनके भरण-पोषण का पुख्ता इंतजाम किया जाएगा। 

Todays Beets: