Friday, July 20, 2018

Breaking News

   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||   नीतीश का गठबंधन को जवाब कहा गठबंधन सिर्फ बिहार में है बाहर नहीं     ||   जापान में बारिश का कहर जारी 100 से ज्यादा लोगों की मौत     ||   PM मोदी के नोएडा दौरे से पहले लगा भारी जाम, पढ़ें पूरी ट्रैफिक एडवाइजरी     ||    नीतीश ने दिए संकेत: केवल बिहार में है भाजपा और जदयू का गठबंधन, राष्ट्रीय स्तर पर हम साथ नहीं    ||   निर्भया मामले में तीनों दोषियों को होगी फांसी, सुप्रीम कोर्ट ने याचिका ठुकराई    ||   उत्तर भारत में धूल: चंडीगढ़ में सुबह 11 बजे अंधेरा छाया, 26 उड़ानें रद्द; दिल्ली में भी धूल कायम     ||

विधवाओं और दिव्यांगों से शादी करने पर सरकार देगी 2 लाख रुपये की प्रोत्साहन राशि 

अंग्वाल संवाददाता
विधवाओं और दिव्यांगों से शादी करने पर सरकार देगी 2 लाख रुपये की प्रोत्साहन राशि 

भोपाल। मध्यप्रदेश में विध्वा और दिव्यांग महिला व पुरुष से शादी करने पर सरकार की तरफ से दंपति को दो लाख रुपये की प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। इसी तरह अनाथ बच्चों के पालन पोषण के लिए पांच सौ रुपये प्रतिमाह देने की योजना को भी जल्द लाने और लागू करने की बात की जा रही है। सामाजिक न्याय मंत्री गोपाल भार्गव ने इन तीन बड़ी योजनाओं को लागू करने की सहमति दी है। सामाजिक न्याय विभाग के प्रमुख सचिव अशोक शाह ने तीनों योजनाओं के प्रस्ताव विभागीय मंत्री को भेजे थे। बैठक में शाह ने बताया कि विधवाएं  अमूमन समाज में उपेक्षा की शिकार हो जाती हैं।

यह भी पढ़े- हिंदी दिवस स्पेशल: कारोबार, पर्यटन सहित अब बाजार की मांग बन चुकी है हिंदी, बढ़ गया है विश्व म...

यदि कोई अविवाहित व्यक्ति किसी विधवा से विवाह करता है तो उस दंपति को प्रोत्साहन के रूप में दो लाख रुपये की राशि दी जाएगी। गोपाल भार्गव ने इस इस प्रस्ताव पर सहमति जताते हुए कहा कि ये कदम समाज की सोच में बदलाव लाएगा। इसी तरह दिव्यांग से सामान्य व्यक्ति या महिला शादी करती है तो उन्हें भी दो लाख रुपए दिए जाएंगे। साथ ही उन्होंने इस बात भी जोर दिया कि इस योजना का लाभ केवल वास्तविक दिव्यांगो को ही मिलेगा।


यह भी पढ़े-  इस दिव्यांग बच्चे का वीडियो देख आप हो जाएंगे भावुक, आनंद महिंद्रा ने वीडियो शेयर कर बताया प्र...

इसके लिए मेडिकेल बोर्ड का प्रमाण-पत्र होना अनिवार्य होगा। साथ ही भौतिक सत्यापन भी कराया जाएगा। विभाग ने प्रस्ताव दिया कि ऐसे नाबालिग बच्चे जो पूरी तरह अपने परिजनों पर निर्भर हैं, उनके भरण-पोषण का पुख्ता इंतजाम किया जाएगा। 

Todays Beets: