Monday, November 19, 2018

Breaking News

   एसबीआई ने क्लासिक कार्ड से पैसे निकालने के बदले नियम    ||   बाजार में मंगलवार को आई बहार, सेंसेक्स और निफ्टी में बढ़त     ||   हिंदूराव अस्पताल के ऑपरेशन थियेटर में निकला सांप , हंगामा     ||   सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के आरोपों के बाद हो सकता है उनका लाइ डिटेक्टर टेस्ट    ||   देहरादून की मॉडल ने किया मुंबई में हंगामा , वाचमैन के साथ की हाथापाई , पुलिस आई तो उतार दिए कपड़े     ||   दंतेवाड़ा में नक्सली हमला, दो जवान शहीद , दुरदर्शन के कैमरामैन की भी मौत     ||   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||

छत्तीसगढ़ के राज्यपाल बीडी टंडन का निधन, 7 दिनों के राजकीय शोक का ऐलान

अंग्वाल न्यूज डेस्क
छत्तीसगढ़ के राज्यपाल बीडी टंडन का निधन, 7 दिनों के राजकीय शोक का ऐलान

नई दिल्ली। छत्तीसगढ़ के राज्यपाल बलराम दास टंडन का मंगलवार की दोपहर को रायपुर में निधन हो गया। उन्हें आज सुबह ही सांस लेने में परेशानी होने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था। 91 साल के बलराम दास टंडन के निधन पर छत्तीसगढ़ में 7 दिनों के राजकीय शोक की घोषणा की गई है। मुख्यमंत्री रमन सिंह ने राज्यपाल के निधन पर शोक व्यक्त किया है।

गौरतलब है कि बलराम दास टंडन मूल रूप से पंजाब के अमृतसर के रहने वाले थे और काफी सादगी पसंद नेता के तौर पर जाने जाते थे। टंडन का जन्म 01 नवंबर 1927 को अमृतसर पंजाब में हुआ था। उन्होंने पंजाब विश्वविद्यालय लाहौर से स्नातक की उपाधि प्राप्त की। इसके बाद वे राजनीति के क्षेत्र में भी काफी सक्रिय रहे। वे बिना किसी लालच के लोगों की भलाई करने के कारण काफी लोकप्रिय भी रहे। 


ये भी पढ़ें - राहुल गांधी ने मिशन-2019 के लिए बनाया प्लान ''वार्ता'' , 18 अगस्त को करेंगे 1500 प्रोफेसरों क...

यहां बता दें कि बीडी टंडन ने अपने राजनीतिक जीवन का पहला चुनाव अमृतसर नगर निगम का 1953 में लड़ा और पार्षद बने। इसके बाद वह अमृतसर विधानसभा क्षेत्र से वर्ष 1957, 1962, 1967, 1969 एवं 1977 में विधानसभा के लिए निर्वाचित हुए। 1997 में वे पहली बार राजपुरा विधानसभा सीट से विधायक बने।

Todays Beets: