Thursday, December 13, 2018

Breaking News

   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||   बजरंगबली पर दिए गए बयान को लेकर हिन्दू महासभा ने योगी को कानूनी नोटिस भेजा     ||   पीएम मोदी 3 द‍िसंबर को हैदराबाद में लेंगे पब्ल‍िक मीट‍िंग     ||   भगत स‍िंह आतंकवादी नहीं, हमारे देश को उन पर गर्व है- फारुख अब्दुल्ला     ||   अन‍िल अंबानी की जेब में देश का पैसा जा रहा है-राहुल गांधी     ||    दिल्ली: TDP नेता वाईएस चौधरी को HC से राहत, गिरफ्तारी पर रोक     ||    पूर्व क्रिकेटर अजहर तेलंगाना कांग्रेस समिति के कार्यकारी अध्यक्ष बनाए गए     ||   किसानों को कांग्रेस ने मजबूर और बीजेपी ने मजबूत बनाया: PM मोदी     ||

कांवड़ यात्रा पर मंडराया आतंकी हमले का साया, की जा रही सुरक्षा की कड़ी व्यवस्था

अंग्वाल न्यूज डेस्क
कांवड़ यात्रा पर मंडराया आतंकी हमले का साया, की जा रही सुरक्षा की कड़ी व्यवस्था

लखनऊ।  कुछ दिनों के बाद शुरू होने वाली कांवड़ यात्रा पर भी आतंकी साया मंडरा रहा है। खुफिया विभाग से मिली जानकारी के बाद उत्तरप्रदेश और उत्तराखंड के आला अधिकारियों की बैठक हुई है। बता दें कि कांवड़ यात्रा 28 जुलाई से शुरू होकर 9 अगस्त तक चलेगी। इसे देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था अभी से कड़ी कर दी गई है। सुरक्षा अधिकारियों ने बताया कि यात्रा के दौरान सिविल ड्रेस में पुलिस और एसटीएफ के जवान भी भक्तों के साथ चलेंगे। इसके साथ ही ड्रोन कैमरे से भी इस पर नजर रखी जाएगी। 

गौरतलब है कि पश्चिमी उत्तरप्रदेश में कांवड़ यात्रा का काफी धार्मिक महत्व है। सुरक्षा अधिकारियों का कहना है कि पिछले कुछ सालों में इस मामले में कई आतंकियों को गिरफ्तार किया जा चुका है। ऐसे में इस बार भी सुरक्षा व्यवस्था अभी से दुरुस्त रखने की कवायद तेज कर दी गई है। यूपी और उत्तराखंड के पुलिस और खुफिया एजेंसियों को आला अफसरों की बैठक देहरादून में हुई है। वेस्ट यूपी  के जिलों के पुलिस और प्रशासन के अफसरों  से यात्रा रूट के संवेदनशील और अति संवेदनशील स्थानों की सूची मांगी है।


ये भी पढ़ें - जदयू-भाजपा के बीच चल रहा है फ्रेंडली मैच, जदयू ने लगाया भाजपा पर आरोप

खुफिया विभाग ने बताया है कि अगले साल देश में चुनाव भी हैं ऐसे मंे आतंकी किसी हमले को अंजाम देकर माहौल को खराब करने की कोशिश कर सकते हैं। खबरों के अनुसार यात्रा रूटों पर अर्द्धसैनिक बलों की तैनाती की जाएगी। पूरे यात्रा रूट पर ड्रोन के साथ हैलीकाॅप्टर से भी नजर रखी जाएगी।  

Todays Beets: