Sunday, February 17, 2019

Breaking News

   महाराष्ट्रः ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा चलाई गई शकुंतला नैरो गेज ट्रेन में लगी आग     ||   केरलः दक्षिण पश्चिम तट से अवैध तरीके से भारत में घुसते 3 लोग गिरफ्तार     ||   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को कोर्ट ने दिया झटका, शुरू होने से पहले ही होटल निर्माण पर लगाई रोक

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को कोर्ट ने दिया झटका, शुरू होने से पहले ही होटल निर्माण पर लगाई रोक

लखनऊ। उत्तरप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने जोरदार झटका दिया है। कोर्ट ने हजरतगंज इलाके में बनने वाले अखिलेश यादव के होटल के निर्माण पर रोक लगा दी है। इसके साथ ही याचिकाकर्ता शिशिर चतुर्वेदी को सुरक्षा मुहैया कराने के आदेश दिए हैं। कोर्ट ने राज्य सरकार सवाल पूछा कि वीवीआईपी हाईसिक्योरिटी जोन में होटल निर्माण की इजाजत किसने दी? अब इस मामले की अगली सुनवाई 5 सितंबर को होगी। 

गौरतलब है कि अखिलेश यादव के होटल का हजरतगंज में विक्रमादित्य मार्ग पर होना प्रस्तावित है। इतने वीवीआईपी सिक्योरिटी जोन में होटल निर्माण की इजाजत मिलने पर अधिवक्ता शिशिर चतुर्वेदी ने कोर्ट में जनहित याचिका दायर की। शनिवार को इस मामले पर सुनवाई हुई और कोर्ट ने स्वतः संज्ञान लेते हुए निर्माण कार्य पर रोक लगा दी और याचिकाकर्ता वकील को सुरक्षा मुहैया कराने के भी आदेश दिए हैं। 


ये भी पढ़ें - केरल में आई प्राकृतिक आपदा को राष्ट्रीय आपदा घोषित किया जाए- राहुल गांधी

यहां बता दें कि होटल को लेकर कोर्ट ने राज्य सरकार से भी पूछा की वीवीआईपी हाईसिक्योरिटी जोन में होटल निर्माण की इजाजत किस अधिकारी ने दे दी?  अब इस मामले की अगली सुनवाई 5 सितंबर को होगी।  वकील शिशिर चतुर्वेदी द्वारा दायर याचिका मामले में अखिलेश यादव, उनकी पत्नी सांसद डिंपल यादव, पिता मुलायम सिंह यादव, जनेश्वर मिश्र ट्रस्ट समेत कुल 13 लोगों को पार्टी बनाया गया है। याचिकाकर्ता वकील का कहना है कि उनपर पीआईएल वापस लेने के लिए दवाब बनाया जा रहा है। 

Todays Beets: