Friday, January 19, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

महिला ने घर में शौचालय न होने पर लिया तलाक, अदालत ने कहा मानसिक क्रूरता

अंग्वाल संवाददाता
महिला ने घर में शौचालय न होने पर लिया तलाक, अदालत ने कहा मानसिक क्रूरता

जयपुर। हाल ही में रिलीज हुई फिल्म ‘टॉयलेट  एक प्रेम कथा’ में भारत में शौच को लेकर गंभीर समस्या को उजागर किया है। जिसमें हीरो की पत्नी घर में शौचालय न होने पर विरोध करते हुए पति से तलाक लेने के लिए कोर्ट में अर्जी देती है। ऐसा ही एक मामला राजस्थान के भीलवाड़ा में एक महिला ने घर में शौचालय ने होने पर अपने पति से तलाक ले लिया है। पीड़िता ने घर में शौचालय न होने पर परिवार से शिकायत की और खुले में शौच के लिए जाने का विरोध किया। महिला के वकील ने बताया कि, पीड़िता की शादी 2011 में हुई थी, लेकिन सुसराल में शौचालय नहीं होने से उसे खुले में शौच के लिए जाना पड़ता था। इस शर्मिंदगी के कारण पत्नी ने अपने पति से शौचालय बनवाने के लिए कहा। पति ने शौचालय नहीं बनवाया तो 20 अक्टूबर 2015 को भीलवाड़ा के पारिवारिक न्यायलय में पीड़िता ने तलाक याचिका दर्ज कर दी। अदालत ने महिला की तालाक की अर्जी को कबूल करते हुए भारत में शौच को मानसिक क्रूरता और महिलाओं की गरिमा के खिलाफ बताया है। 

यह भी पढ़े- सीएम योगी ने गोरखपुर का किया दौरा, राहुल और अखिलेख पर साधा निशाना

 

 


खुले में शौच करने पर जेल में बंद

ऐसा ही एक और मामला भी भिलवाड़ा से सामने आया है। भीलवाड़ा के जहाजपुर गांव के एसडीएम करतार सिंह ने लोगों को खुले में शौच करते देखा तो पहले उन्हें समझाया लेकिन लोगों ने उनकी बात नहीं मानी तो पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने छह घंटे तक उन अपराधियों को बंद रखा और उन पर 10 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया। साथ ही पुलिस ने उन्हें इस चेतावनी और वादे के साथ छोड़ा कि वह 10 दिन के अंदर अपने घर में शौचालय बन बनवाएंगे।  

यह भी पढ़े- RBI जल्द लाएगा 50 रुपये का नया नोट, जारी हुई तस्वीर, जानें क्या हैं इसकी खूबियां

 

 

Todays Beets: