Monday, November 19, 2018

Breaking News

   एसबीआई ने क्लासिक कार्ड से पैसे निकालने के बदले नियम    ||   बाजार में मंगलवार को आई बहार, सेंसेक्स और निफ्टी में बढ़त     ||   हिंदूराव अस्पताल के ऑपरेशन थियेटर में निकला सांप , हंगामा     ||   सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के आरोपों के बाद हो सकता है उनका लाइ डिटेक्टर टेस्ट    ||   देहरादून की मॉडल ने किया मुंबई में हंगामा , वाचमैन के साथ की हाथापाई , पुलिस आई तो उतार दिए कपड़े     ||   दंतेवाड़ा में नक्सली हमला, दो जवान शहीद , दुरदर्शन के कैमरामैन की भी मौत     ||   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||

रिम्स प्रशासन ने माना लालू का अनुरोध, 1000 रुपये प्रतिदिन किराए वाले पेईंग वार्ड में हुए शिफ्ट

अंग्वाल न्यूज डेस्क
रिम्स प्रशासन ने माना लालू का अनुरोध, 1000 रुपये प्रतिदिन किराए वाले पेईंग वार्ड में हुए शिफ्ट

रांची। चारा घोटाले में सजा भुगत रहे राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद को मच्छर और कुत्तों के भौंकने से हो रही परेशानी के बाद अस्पताल प्रशासन ने उनकी मांग मानते हुए  उन्हें पेइंग वार्ड में भर्ती करा दिया है। बता दें कि लालू प्रसाद को इस वार्ड में रहने के लिए रोजाना 1000 रुपये किराया देना होगा। गौर करने वाली बात है कि लालू प्रसाद ने कहा था कि रात  के वक्त कुत्तों के भौंकने और मच्छरों की वजह से उन्हें रात को नींद नहीं आती है और उनका संक्रमण बढ़ सकता है। 

गौरतलब है कि लालू प्रसाद का इलाज रांची इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (रिम्स) में किया जा रहा है। डाॅक्टरों का कहना है कि फिलहाल उनका शुगर लेवल 174 पाया गया है और ब्लड प्रेशर सामान्य है। बता दें कि लालू प्रसाद यादव को रांची की विशेष सीबीआई अदालत में आत्मसमर्पण करने के बाद बिरसामुंडा जेल भेज दिया गया था लेकिन सेहत के मद्देनजर उन्हें रिम्स में भर्ती कराया गया।  


ये भी पढ़ें - यौन उत्पीड़न और तेजाब के हमले से पीड़ित पुरुषों को भी मिलेगा मुआवजा- सुप्रीम कोर्ट

यहां बता के लालू रिम्स के कार्डियोलाॅजी विभाग में भर्ती हैं और उनके लिए बनाया गया विशेष कमरा पोस्टमाॅर्टम हाउस के करीब होने से वहां आवारा कुत्तों का जमावड़ा लगा रहता है। उन्होंने अस्पताल प्रशासन से अनुरोध किया था कि कुत्तों के भौंकने के चलते उन्हें रात को नींद नहीं आती है ऐसे में उन्हें नवनिर्मित पेईंग वार्ड में शिफ्ट कर दिया जाए। आग्रह पत्र में लालू ने कहा कि वह टहल नहीं पा रहे थे। शारीरिक गतिविधि नहीं होने के कारण और अच्छी नींद नहीं आने के कारण उन्हें स्ट्रेस हो गया था। इसी वजह से उनका शुगर लेवल बढ़ जा रहा था। पेईंग वार्ड में शिफ्ट होने के बाद वह गैलरी में टहल भी पाएंगे। 

Todays Beets: