Saturday, May 25, 2019

Breaking News

   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||

अब बीमा प्रीमियम जमा करने के लिए लाइनों में नहीं होना पड़ेगा खड़ा, पेटीएम के जरिए करें मिनटों में भुगतान 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
अब बीमा प्रीमियम जमा करने के लिए लाइनों में नहीं होना पड़ेगा खड़ा, पेटीएम के जरिए करें मिनटों में भुगतान 

नई दिल्ली। अब आपको अपने एलआईसी का प्रीमियम जमा करने के लिए लंबी लाइनों में खड़े होने की जरूरत नहीं पड़ेगी। जी हां, डिजिटल भुगतान करने वाली कंपनी पेटीएम ने एलआईसी के साथ एक समझौता किया है। इसके बाद अब आप मिनटों में अपना प्रीमियम जमा कर सकते हैं। खबरों के अनुसार, पेटीएम के जरिए उपभोक्ता 50 से ज्यादा बीमा कंपनियों के प्रीमियम जमा कर सकते हैं। पेटीएम की स्वामित्व वाली कंपनी वन 97 ने बुधवार को यह जानकारी दी है। 

गौरतलब है कि सरकार की ओर से लगातार डिजिटल भुगतान को बढ़ावा दिया जा रहा है। इसके लिए सरकार की ओर से कई डिजी एप को भी लाॅन्च किया है। पेटीएम के मुख्य परिचालन अधिकारी किरण वासीरेड्डी ने कहा, ‘‘हमारे देश में बीमा प्रीमियम का भुगतान ज्यादातर ऑफलाइन मोड से ही किया जाता है, यानी नगदी में। हम चाहते हैं कि पेटीएम के जरिए लोगों को बिना किसी दिक्कत के आसान भुगतान का अनुभव मिले। इसके लिए हमने एलआईसी और अन्य अग्रणी बीमा कंपनियों के साथ साझेदारी की है, जिस से लाखों बीमा प्रीमियम चुकाने वालों को पेटीएम एप की मदद से बीमा पॉलिसी प्रीमियम के आसान ऑनलाइन भुगतान और तेज नवीनीकरण का मौका मिलेगा।’’


ये भी पढ़ें - अपनी मांगों को लेकर ‘अन्नदाता’ एक बार फिर उतरे सड़कों पर, 20 हजार किसानों का रैला ठाणे से मुंबई रवाना

यहां बता दें कि भारत बीमा क्षेत्र संख्या के हिसाब से दुनिया में सबसे बड़ा है और भारत में ही करीब 36 करोड़ पाॅलिसी धारक हैं।  

Todays Beets: