Monday, March 25, 2019

Breaking News

    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||   PAK सेना के ISPR के डीजी ने कहा- हम युद्ध की तैयारी नहीं कर रहे, भारत धमकी दे रहा है     ||   ICC को खत लिखेगी BCCI- आतंक समर्थक देश के साथ खत्म हो क्रिकेट संबंध     ||

आपके रेल टिकट पर अब दूसरा भी कर सकेगा यात्रा, लेकिन कैसे...रेलवे ने बनाई है यह नियमावली

अंग्वाल न्यूज डेस्क
आपके रेल टिकट पर अब दूसरा भी कर सकेगा यात्रा, लेकिन कैसे...रेलवे ने बनाई है यह नियमावली

नई दिल्ली । रेल यात्रा के दौरान आपने टिकट पर लिखा देखा होगा कि यह टिकट आपका है, आप इसे किसी दूसरे को न दें। लेकिन कई बार कुछ परिस्थितियां ऐसी आ जाती है कि आप अपनी यात्रा को स्थगित कर देतें हैं। ऐसे में कई बार आपका आरक्षित टिकट बेकार हो जाता है। आप नियमों में बंधे होने के चलते चाहकर भी अपना टिकट अपने किसी परिजन को भी नहीं दे सकते। दूसरे के टिकट पर यात्रा करना जुर्म है, लेकिन अब रेलवे ने ऐसी स्थिति में लोगों को राहत देने के लिए नई व्यवस्था की है। असल में रेलवे ने आरक्षित टिकट दूसरे को देने की सुविधा शुरू कर दी है। इसके बाद अब आपकी यात्रा रद्द होने पर आप अपना आरक्षित टिकट दूसरे को दे सकेंगे । 

इस सब के लिए रेलवे ने कुछ नियम कायदे बनाए हैं। इन नियमों का अनुसरण करने पर अब लोग अपने आरक्षित टिकट को दूसरे लोगों को दे सकेंगे । लेकिन ये दूसरे लोग कौन होंगे, इसके लिए जो नियमावली बनाई गई है, उसके तहत आप अपने खून के रिश्तेदार को अपना टिकट दे सकेंगे। मसलन , आप अगर अपनी रेल यात्रा को रद्द करते हैं तो आप अपना टिकट अपने माता पिता , भाई बहन , पत्नी और बच्चों को दे सकते हैं। वे आपके टिकट पर यात्रा कर सकते हैं। हालांकि परिवार से बाहर के लोगों को टिकट देने के लिए भी कुछ नियम बनाए गए हैं।

UPSC सिविल सर्विस परीक्षा के लिए जारी हुई अधिसूचना , जानें कब -कहां -कैसे करें आवेदन

हालाकि इस सब के लिए एक निर्धारित समयसीमा है। आपको बता दें कि आपको अपना टिकट अपने ब्लड रिलेशन में किसी दूसरे को देना है तो इसके लिए टिकट यात्रा से 24 घंटे पहले आपको एक रिक्वेस्ट देनी होगी। इसके बाद ही टिकट पर दूसरा यात्री यात्रा कर सकेगा। यहां एक बात और साफ कर दें कि यह सुविधा तत्काल टिकट पर इस सुविधा की लाभ नहीं उठाया जा सकता है। 

घाटी में पत्थरबाजों को सेना की अंतिम चेतावनी, कहा- जो भी सेना के खिलाफ बंदूक उठाएगा वो मारा जाएगा


आपको टिकट ट्रांसफर करने के लिए नजदीक के रेलवे रिजर्वेशन ऑफिस में संपर्क करना होगा। इसके लिए ऑनलाइन आवेदन नहीं हो सकता। आपको लोकल चीफ रिजर्वेशन सुपरवाइज़र के नाम से एक पत्र लिखना होगा। इसके साथ ही उस व्यक्ति का फोटो पहचान पत्र भी लगाना होगा, जिसके नाम टिकट करना है। इसके साथ ही ऐसा कोई प्रमाणपत्र भी देना होगा, जो आप दोनों के बीच का रिश्ते की पहचान हो। राशन कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, आधार कार्ड इसके लिए ऑप्शन हैं।

पाकिस्तानी PM के समर्थन में खड़ी हुई महबूबा मुफ्ती , बोलीं- इमरान खान को एक और मौका मिलना चाहिए

इसी क्रम में खून के रिश्तों से बाहर अगर किसी को टिकट देना है तो उसके लिए भी कुछ नियम बनाए गए हैं। इसमें पहले बात करते हैं कि अगर आप किसी सरकारी विभाग में हैं तो अपने सरकारी काम से संबंधित टिकट को अपने डिपार्टमेंट के किसी दूसरे साथी को ट्रांसफर कर सकते हैं। इसी क्रम में किसी बड़े शिक्षा संस्थान के छात्र भी इसके अंतर्गत फायदा ले सकते हैं । एक शर्त यह होगी कि संस्थान के डीन इस बारे में आपको अनुमति दें। इसी क्रम में अगर विवाह समारोह में जा रहे हैं, कॉलेज स्टूडेंट्स ग्रूप है या एनसीसी स्टूडेंट्स हैं तो आप भी इस सुविधा के हकदार होंगे। 

बेंगलुरु एयर शो से पहले बड़ा हादसा, उड़ान भरते ही दो सूर्यकिरण एयकक्राफ्ट टकराकर क्रैश , एक पायलट की मौत

लेकिन इन सब के लिए भी लोगों को 24 घंटे पहले और स्थानीय रेलवे स्टेशन पर ही जाना होगा। इस स्टेशन पर जाकर ही वह ट्रांसफर के लिए स्टेशन मास्टर को प्रार्थनापत्र लिख सकेंगे। 

Todays Beets: