Tuesday, January 22, 2019

Breaking News

   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||

भाजपा ने ओडिशा में किसानों की आत्महत्या के लिए सरकार को बताया जिम्मेदार, कृषि की अनदेखी का आरोप

अंग्वाल न्यूज डेस्क
भाजपा ने ओडिशा में किसानों की आत्महत्या के लिए सरकार को बताया जिम्मेदार, कृषि की अनदेखी का आरोप

भुवनेश्वर। ओडिशा भाजपा इकाई ने राज्य में किसानों की आत्महत्या के लिए राज्य सरकार को दोषी ठहराया है। भाजपा राज्य इकाई के प्रमुख बसंत पांडा ने संवाददाताओं से कहा कि सरकार आसान ऋण नहीं मुहैया करा रही है इस कारण किसान महाजनों से काफी ऊंचे ब्याज दर पर ऋण लेते हैं और नहीं चुका पाने की वजह से आत्महत्या कर लेते हैं। बता दें कि बसंत पांडा ने सरकार पर कृषि की अनदेखी करने का आरोप लगाया। 

गौरतलब है कि भाजपा नेता ने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा, ‘फसल खराब होने के कारण कई किसान ऋण चुकाने में असफल रहते हैं और कर्ज से दबे होने के करने वे आत्महत्या के लिए विवश हो जाते हैं।’ उन्होंने कहा कि सरकार किसानों को खाद, बीज और सिंचाई जैसी सुविधाओं के बारे में जानकारी उपलब्ध कराने में भी ‘विफल’ रही है। उन्होंने कहा कि किसानों को उनके उत्पादों के लिए केंद्र सरकार द्वारा निर्धारित न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) भी नहीं दिया जा रहा है।

ये भी पढ़ें - राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष का मंदिर पर बड़ा बयान, कहा-दिसंबर से शुरू हो जाएगा निर्माण


यहां बता दें कि भाजपा इकाई के नेता बसंत पांडा ने कहा कि प्रदेश सरकार कृषि क्षेत्र की ओर खास ध्यान नहीं दे रही है। उन्होंने भाजपा शासित दूसरे राज्यों का उदाहरण देते हुए कहा कि सरकार को यहां भी पीड़ित किसानों को मुआवजा राशि देने के साथ ब्याज मुक्त ऋण देना चाहिए।  

 

Todays Beets: