Thursday, November 22, 2018

Breaking News

   ऑस्ट्रेलिया के PM मॉरिशन बोले- भारत दुनिया की सबसे तेजी से आगे बढ़ती अर्थव्यवस्था     ||   पश्चिम बंगालः सिलीगुड़ी की तीस्ता नहर में 4 जिंदा मोर्टार सेल बरामद     ||   मुजफ्फरपुर बालिका गृहकांडः कोर्ट ने मंजू वर्मा को 1 दिन की पुलिस हिरासत में भेजा     ||   करतारपुर साहिब कॉरिडोर को मंजूरी देने पर CM अमरिंदर ने PM मोदी को कहा- शुक्रिया     ||   करतारपुर कॉरिडोर पर मोदी सरकार की मंजूरी के बाद बोला PAK- जल्द देंगे गुड न्यूज     ||   चौदह दिनों की न्यायिक हिरासत में बिहार की पूर्व मंत्री मंजू वर्मा, कोर्ट में किया था सरेंडर     ||   MP में चुनाव प्रचार के दौरान शख्स ने BJP कैंडिडेट को पहनाई जूतों की माला     ||   बेंगलुरु: गन्ना किसानों के साथ सीएम कुमारस्वामी की बैठक     ||   US में ट्रंप को कोर्ट से झटका, अवैध प्रवासियों को शरण देने से नहीं कर सकते इनकार    ||   एसबीआई ने क्लासिक कार्ड से पैसे निकालने के बदले नियम    ||

दिल्ली सरकार का वाहनों के दुरुपयोग को रोकने का नया तरीका, ‘एक अधिकारी-एक वाहन’ का आदेश जारी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
दिल्ली सरकार का वाहनों के दुरुपयोग को रोकने का नया तरीका, ‘एक अधिकारी-एक वाहन’ का आदेश जारी

नई दिल्ली। दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार ने सरकारी वाहनों के दुरुपयोग को रोकने की शुरुआत अपने अधिकारियों से करने जा रही है।  सरकार ने अपने सभी वाहनों में जीपीएस सिस्टम लगाने का आदेश जारी किया है। इसके साथ ही अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिया है कि दूसरे विभाग का चार्ज होने के बावजूद भी वह सिर्फ एक ही वाहन का इस्तेमाल करेंगे। अगले महीने की पहली तारीख यानी कि 1 सितंबर से कोई भी अधिकारी एक से ज्यादा वाहनों का इस्तेमाल नहीं कर सकेगा। इस आदेश पर निगरानी रखने की जिम्मेदारी सभी विभागाध्यक्षों की होगी।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के पास आई कई शिकायतों में इस बात का जिक्र किया है कि दूसरे विभागों में अतिरिक्त जिम्मेदारी संभालने वाले अधिकारियों के पास एक से ज्यादा वाहन हैं। इसके बाद प्रशासन विभाग की ओर से यह आदेश जारी करते हुए कहा गया है कि अब कोई भी सरकारी वाहन बिना जीपीएस के सड़कों पर नहीं उतरेगा। 

ये भी पढ़ें - आगामी चुनाव में भाजपा को हराने के लिए ‘पवार फाॅर्मूला’, ज्यादा सांसद वाली पार्टी का हो पीएम


यहां बता दें कि मुख्यमंत्री से की गई शिकायतों में कहा गया है कि अतिरिक्त प्रभार वाले सरकारी अधिकारियों के पास एक से ज्यादा वाहन होने की वजह से गाड़ियों का गलत इस्तेमाल किया जा रहा है। इसके बाद ही एक अधिकारी एक वाहन का आदेश जारी किया गया है।

 

Todays Beets: