Friday, October 19, 2018

Breaking News

   सेना हर चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए तैयार, सर्जिकल स्ट्राइक भी व‍िकल्‍प: रणबीर सिंह    ||   BJP विधायक मानवेंद्र ने बदला पाला, राज्यवर्धन बोले- कांग्रेस ने 70 साल में मंत्री नहीं बनाया    ||   सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर छिड़ी जंग, हिरासत में 30 प्रदर्शनकारी    ||   विवेक तिवारी हत्याकांडः HC की लखनऊ बेंच ने CBI जांच की मांग ठुकराई    ||   केरलः अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद ने सबरीमाला फैसले के खिलाफ HC में लगाई याचिका    ||   कोलकाताः HC ने दुर्गा पूजा आयोजकों को ममता के 28 करोड़ देने के फैसले पर रोक लगाई    ||    रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल पर भारत की डील    ||   नार्वेः राजधानी ओस्लो में आज होगा शांति के नोबेल पुरस्कार का ऐलान    ||   अंकित सक्सेना मर्डर केसः ट्रायल के लिए अभियोगपक्ष के 2 वकीलों की नियुक्ति    ||   जम्मू कश्मीर में नेशनल कॉफ्रेंस के दो कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या, मरने वालों में एक MLA का पीए भी     ||

राजद सुप्रीमो की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, रेलवे होटल भ्रष्टाचार में पटियाला कोर्ट ने भेजा समन

अंग्वाल न्यूज डेस्क
राजद सुप्रीमो की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, रेलवे होटल भ्रष्टाचार में पटियाला कोर्ट ने भेजा समन

पटना। बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव भले ही नीतीश सरकार पर हमलावर हों लेकिन उनके परिवार की मुश्किलें कम नहीं हो रहीं हैं। आईआरसीटीसी होटल घोटाले मामले में पटियाला हाउस कोर्ट ने राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद, उनकी पत्नी राबड़ी देवी और तेजस्वी यादव को समन भेजा है। इससे पहले 27 जुलाई को हुई सुनवाई के बाद जज ने 30 जुलाई तक अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था। जज ने मामले का अध्ययन करने के लिए समय मांगा था। यहां बता दें कि सीबीआई ने इस मामले में 16 अप्रैल को आरोप-पत्र दायर किया था।

गौरतलब है कि लालू प्रसाद के रेल मंत्री रहते हुए विनय और विजय कोचर नाम के व्यापारियों को फायदा पहुंचाने के लिए पटना के पाॅश इलाके में जमीन लेने का आरोप है। बताया जा रहा है कि इस जमीन के बदले लालू प्रसाद ने रांची और पुरी में आईआरसीटीसी के 2 होटलों की जिम्मेदारी इन दोनों की कंपनी सुजाता होटल को सौंप दिया था।  इस मामले की जांच कर रही सीबीआई ने 16 अप्रैल को लालू प्रसाद, उनकी पत्नी राबड़ी देवी और पुत्र तेजस्वी यादव समेत 14 अन्य लोगों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की थी। 


ये भी पढ़ें - असम में रहने वाले 40 लाख लोग अवैध, एनआरसी ने जारी किया दूसरा ड्राफ्ट

यहां बता दें कि सीबीआई ने अदालत को बताया कि रेलवे बोर्ड के अतिरिक्त सदस्य और आईआरसीटीसी के पूर्व ग्रुप मैनेजर बी. के. अग्रवाल पर मुकदमा चलाने के लिए संबंधित अधिकारियों से मंजूरी प्राप्त की गई है। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने अग्रवाल पर कार्रवाई की अनुमति दी है। इस अधिकारी पर मामले में लालू व उनके परिवार को फायदा पहुंचाने के लिए जानबूझकर देरी कर मामले को कमजोर करने का आरोप है। बता दें कि रेल मंत्री रहते हुए लालू पर यह भी आरोप लगा कि सुजाता होटल को फायदा पहुंचाने के लिए निविदा की प्रक्रिया में भी छेड़छाड़ की गई है। 

Todays Beets: