Thursday, August 16, 2018

Breaking News

   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||   जापान में फ़्लैश फ्लड से 200 लोगों की मौत     ||   देहरादून में जलभराव पर सरकार ने लिया संज्ञान अधिकारियों को दिए निर्देश     ||   भारत ने टॉस जीता फील्डिंग करने का फैसला     ||   उपेन्द्र राय मनी लाउंड्रिंग मामले में सीबीआई ने 2 अधिकारियों को गिरफ्तार किया     ||

पहाड़ों की ये सब्जी आपको बना देगी 'फौलादी सिंह', मीट से 50 गुना ज्यादा प्रोटीन है इसमें

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पहाड़ों की ये सब्जी आपको बना देगी

नई दिल्ली । मौजूदा दौर में लोग स्वस्थ रहने के लिए ज्यादा सजग तो नजर आने लगे हैं, लेकिन उनके खाने-पीने में संतुलन न होने से उनकी सजगता किसी काम नहीं आ रही है। इतना ही नहीं हमारे खाने पीने में बढ़ता जंक फूड भी हमारी गिरते स्वास्थ के स्तर का जिम्मेदार है । हमारे खाने से जरूरी दालें और सब्जियां कई लोगों की थाली से दूर होती जा रही हैं। ऐसे में हम आपको बता रहे हैं एक ऐसी सब्जी के बारे में जिसके खाने से आपका शरीर काफी हद तक स्वस्थ और मजबूत हो जाएगा। जी हां..यह सब्जी है कंटोला। इसे दुनिया की सबसे ज्यादा ताकतवर सब्जी कहा जाता है। औषधि के रूप में भी इस्तेमाल आने वाले इस कंटोला के सेवन से एक व्यक्ति कुछ ही दिनों में खुद को तंदुरुस्त और फौलादी बना सकता है। इसकी खेती मुख्य रूप से पहाड़ी क्षेत्रों में खेती की जाती है। 

गुणों से भरपूर है ककोड़े

ककोड़े यानी मीठा करेला । इसे आयुर्वेद में सबसे ताकतवर सब्जी के रूप में माना गया है। इतना ही नहीं इसका इस्तेमाल स्वास्थ के लिए लिहाज से काफी लाभदायक भी है। अगर कोई शख्स अपने भोजन में इसे कुछ समय नियमित रूप से लेना शुरू कर दे तो उसके शरीर में दूसरे तत्वों के साथ फाइबर की कमी पूरी हो जाएगी। 

अगर आप हैं अपने साथी के खर्राटों से परेशान तो जानिए खर्राटे दूर करने के उपाय

मीट से 50 गुना ज्यादा प्रोटीन

जानकारों का कहना है कि इसे नियमित रूप से खाने वाला व्यक्ति एक फौलाद बन सकता है। इसका कारण वह बताते है कि इस मीठे करेले में प्रचूर मात्रा में प्रोटीन होता है। इतना ही नहीं इसमें मीट से 50 गुना ज्यादा ताकत और प्रोटीन होता है। खास बात ये है कि इसमें मौजूद फाइटोकेमिकल्स स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में काफी मदद करता है। वही एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होने के चलते यह सब्जी किसी 'अमृत' से कम साबित नहीं होती। 

भूलकर भी डायबिटीज के मरीज न खाएं ये फल और सब्जियां, नहीं तो हो सकती है भयानक समस्या 

वजन घटाने में कारगर

जो लोग जिम जाकर और प्रोटीन लेकर अपने वजन और सेहत को तंदुरुस्त रखने की कवायद में जुटे हैं, अगर वो लोग कुछ महीनें इसका इस्तेमाल कर लें तो न केवल उनके शरीर में प्रोटीन आयरन की कमी पूरी होगी, बल्कि यह वजन घटाने में भी सहायक है। वहीं कंटोल में एंटी-एलर्जन और एनाल्जेसिक सर्दी खांसी से राहत प्रदान करने और इस रोकन में काफी सहायक है।


हमारे पैरों में ही छिपे हैं सेहत के कई राज, जानें बीमारी को लेकर कैसे मिलते हैं संकेत

कैंसर से रखेगा दूर

इस सब्जी का इस्तेमाल न केवल आपको तंदुरुस्त रखेगा बल्कि आपको कई तरह के रोगों से भी दूर रखेगा। जानकारों का कहना है कि इसमें मौजूद ल्युटेन जैसे केरोटोनोइडस विभिन्न नेत्र रोग, हृदय रोग और यहां तक कि कैंसर की रोकथाम में सहायक है।

पेट से परेशानों के लिए रामबाण

अब जिन लोगों को अपने पेट से परेशानी रहती है। यानी पाचन संबंधी दिक्कतें आती हैं, उनके लिए भी यह सब्जी किसी रामबाण से कम नहीं है। अगर आप इसका सेवन अचार बनाकर भी करेंगे तो यह आपको पाचन संबंधी समस्याओं से राहत दे सकती है। इतना ही नहीं इसमें मौजूद मोमोरडीसिन तत्व और फाइबर की अधिक मात्रा शरीर के लिए रामबाण हैं। मोमोरेडीसिन तत्व एंटीऑक्सीडेंट, एंटीडायबिटीज और एंटीस्टे्रस की तरह काम करता है और वजन और हाई ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखता है।

आ रहा है मानसून, इस मौसम में त्वचा संबंधी परेशानियों से कुछ इस तरह करें बचाव 

मानसून के मौसम में आएगी नजर

अमूमन आपके खून में मौजूद अशुद्धियों को दूर करने की क्षमता रखने वाला यह मीठा करेला मॉनसून के मौसम में भारतीय बाजारों में देखा जाता है। इसके औषधीय लाभ को जानने के बाद अब इसकी खेती दुनिया के अन्य देशों में भी होने लगी है। इसकी खेती मुख्य रूप से पहाड़ी क्षेत्रों में खेती की जाती है। 

 

Todays Beets: