Thursday, January 18, 2018

Breaking News

   98 साल की उम्र में MA करने वाले राज कुमार का संदेश, कहा-हमेशा कोशिश करते रहें     ||   मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ने पार किया 34000 का आंकड़ा, ऑफिस में जश्न का माहौल     ||   पं. बंगाल: मालदा से 2 लाख रुपये के फर्जी नोट बरामद, एक गिरफ्तार    ||   सेक्स रैकेट का भंड़ाभोड़: दिल्ली की लेडी डॉन सोनू पंजाबन अरेस्ट    ||   रूपाणी कैबिनेट: पाटीदारों का दबदबा, 1 महिला को भी मंत्रिमंडल में मिली जगह    ||   पशु तस्करों और पुलिस में मुठभेड़, जवाबी गोलीबारी में एक मरा, घायल गायें बरामद    ||   RTI में खुलासा- भगत सिंह-राजगुरु-सुखदेव को अब तक नहीं मिला शहीद का दर्जा, सरकारी किताब में बताया गया 'आतंकी'     ||    गुजरात चुनाव: रैली में बोले BJP नेता- दाढ़ी-टोपी वालों को कम करना पड़ेगा, डराने आया हूं ताकि वो आंख न उठा सकें    ||   मध्य प्रदेश: बाबरी विध्वंस पर जुलूस निकाल रहे विहिप-बजरंग दल कार्यकर्ता पर पथराव, भड़क गई हिंसा    ||   बैंक अकाउंट को आधार से जोड़ने की तारीख बढ़ी, जानिए क्या है नई तारीख    ||

उत्तरप्रदेश निकाय चुनाव पर आयोग सख्त, लखनऊ में 5 नवंबर को होने वाली रैली पर लगाई रोक, ठेके भी होंगे बंद

अंग्वाल न्यूज डेस्क
उत्तरप्रदेश निकाय चुनाव पर आयोग सख्त, लखनऊ में 5 नवंबर को होने वाली रैली पर लगाई रोक, ठेके भी होंगे बंद

लखनऊ। राज्य में निकाय चुनावों के लिए आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद होने वाली राजनीतिक गतिविधियों पर राज्य निर्वाचन आयोग ने अपना शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। राज्य निर्वाचन आयोग ने इसके तहत कैबिनेट मंत्री और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर की 5 नवंबर को लखनऊ में होने वाली रैली पर रोक लगा दी है। अखबारों में छपी खबरों पर संज्ञान लेते हुए राज्य निर्वाचन चुनाव आयुक्त एसके अग्रवाल ने जिलाधिकारी को भी आड़े हाथों लेते हुए आचार संहिता लागू होने के बाद भी रैली की प्रशासनिक अनुमति वापस न लिए जाने पर सख्त हिदायत भी दी है।

मतदान से 2 दिन पहले ठेके होंगे बंद

मतदान में गड़बड़ी न हो इसके मद्देनजर राज्य निर्वाचन आयोग ने आबकारी विभाग को सख्त निर्देश दिए हैं कि जिस जिले में चुनाव होगा वहां मतदान से 48 घंटे पहले सभी लाइसेंसी देसी, अंग्रेजी शराब, बीयर एवं भांग की दुकानों और  माॅडल शाॅप बंद करवा दिए जाएं। ये सभी दुकानें मतदान समाप्त होने के बाद खुलेंगी। राज्य निर्वाचन आयुक्त एसके अग्रवाल ने आबकारी विभाग के अपर मुख्य सचिव दीपक त्रिवेदी, आबकारी आयुक्त धीरज साहू और एडीजी लॉ एण्ड आर्डर आनंद कुमार के साथ बैठक करने के बाद कहा कि मतगणना के 1 दिन पहले भी सभी प्रकार की शराब की दुकानें बंद करवा दी जाएंगी।

ये भी पढ़ें - अमेरिका में हुआ एक और हमला, कोलोरैडो के वालमार्ट स्टोर में फायरिंग में 2 लोगों की मौत, कई घायल


सुरक्षा व्यवस्था होगी कड़ी

यहां बता दें कि राज्य निर्वाचन आयोग ने सीमावर्ती राज्यों से शराब की खेप यहां न पहुंचे इसके लिए सीमांत जिलों में पुलिस एवं आबकारी विभाग के संयुक्त दस्ते तैनात किए जाएंगे। इन दस्तों की तैनाती 10 नवंबर से एक दिसंबर तक रहेगी ताकि पड़ोसी राज्यों खासतौर पर हरियाणा से अवैध शराब की तस्करी न हो सके। राज्य निर्वाचन आयुक्त एसके अग्रवाल ने सभी जिलों के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि चुनाव प्रचार खत्म होने के फौरन बाद जिले की सभी सीमाएं सील कर दी जाएंगी। बाहर से आने वालों से पूछताछ होगी और उनकी गतिविधियों पर कड़ी नजर रखी जाएगी। 

 

Todays Beets: