Wednesday, September 26, 2018

Breaking News

   ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के पूर्व जीएम के ठिकानों पर आयकर के छापे     ||   बिहार: पूर्व मंत्री मदन मोहन झा बनाए गए प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष। सांसद अखिलेश सिंह बनाए गए अभियान समिति के अध्यक्ष। कौकब कादिरी समेत चार बनाए गए कार्यकारी अध्यक्ष।     ||   कर्नाटक के मंत्री शिवकुमार के खिलाफ ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया    ||   सीतापुर में श्रद्धालुओें से भरी बस खाई में पलटी 26 घायल, 5 की हालत गंभीर     ||   मंगल ग्रह पर आशियाना बनाएगा इंसान, वैज्ञानिकों को मिली पानी की सबसे बड़ी झील     ||   भाजपा नेता का अटपटा ज्ञान, 'मृत्युशैया पर हुमायूं ने बाबर से कहा था, गायों का सम्मान करो'     ||   आज से एक हुए IDEA-वोडाफोन! अब बनेगी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी     ||   गोवा में बड़ी संख्‍या में लोग बीफ खाते हैं, आप उन्‍हें नहीं रोक सकते: बीजेपी विधायक     ||   चीन फिर चल रहा 'चाल', डोकलाम में चुपचाप फिर शुरू कीं गतिविधियां : अमेरिकी अधिकारी     ||   नीरव मोदी, चोकसी के खिलाफ बड़ा एक्शन, 25-26 सितंबर को कोर्ट में पेश होने के आदेश     ||

शिक्षक के तबादले से दुखी छात्र बैठे धरने पर, सरकार ने लगाई रोक

अंग्वाल न्यूज डेस्क
शिक्षक के तबादले से दुखी छात्र बैठे धरने पर, सरकार ने लगाई रोक

तिरुवनंतपुरम। सरकारी स्कूलों की शिक्षा व्यवस्था किसी से छिपी हुई नहीं है। शिक्षकों के गैरजिम्मेदाराना रवैये से सभी वाकिफ हैं। कुछ ऐसे भी शिक्षक हैं जो बच्चों को पढ़ाना चाहते हैं और पढ़ाते भी हैं और यही कारण है कि वैसे शिक्षकों की कमी निश्चित तौर पर बच्चों को खलती है। कुछ ऐसा ही हुआ है तमिलनाडु के तिरुवल्लुर जिले के वेल्लिग्राम स्थित सरकारी हाईस्कूल में, जहां एक शिक्षक के तबादले से बच्चे काफी दुखी हो गए हैं। 

गौरतलब है कि तिरुवल्लुर जिले के सरकारी हाईस्कूल में पढ़ाने वाले 28 वर्षीय अंग्रेजी शिक्षक जी भगवान का तबादला दूसरे इलाके के सरकारी स्कूल में कर दिया गया है। स्कूल में जब बच्चों को इस खबर के बारे में पता चला तो वे इतने  दुखी हो गए कि उन्होंने जी भगवान को स्कूल में ही रोक लिया और उनसे लिपटकर रोने लगे। बच्चे इस शिक्षक से इतने प्रभावित थे कि उनके तबादला को रोकने के लिए स्कूल में ही धरने पर बैठ गए। इस प्रदर्शन में बच्चों के साथ उनके अभिभावकों ने भी उनका भरपूर साथ दिया। आखिरकार बच्चों के इस प्रदर्शन से सरकार का दिल पसीज गया और उसने भगवान के तबादले पर 10 दिनों के लिए रोक लगा दी।  


ये भी पढ़ें - एक और भाजपा नेता ने कांग्रेस अध्यक्ष को लेकर दिया विवादित बयान, कहा- मंदबुद्धि हैं राहुल 

यहां बता दें कि जी भगवान शिक्षा के महत्व को बखूबी समझते हैं और छात्रों की हर मुमकिन मदद करते हैं। छात्रों का कहना है कि पहले कई छात्र अंग्रेजी में काफी कमजोर थे लेकिन जी भगवान ने ऐसे बच्चों की काफी मदद की और उन्हें  उन्हें उचित मार्गदर्शन दिया जिसकी वजह से आज उनकी अंग्रेजी में काफी हद तक सुधार आया है। जी भगवान हर समय चाहे सुबह हो या शाम बच्चों के लिए उपलब्ध रहते हैं। यही कारण है कि बच्चे आज उनके तबादले की खबर से काफी दुखी हो गए और उनसे लिपटकर रोने लगे।  

Todays Beets: