Tuesday, January 22, 2019

Breaking News

   ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर योगी सरकार को SC का नोटिस, CJI बोले- विस्तृत सुनवाई की जरूरत     ||   तेहरान में बोइंग 707 किर्गिज कार्गो प्लेन क्रैश, 10 क्रू मेंबर की मौत     ||   PM मोदी बोले- जवानों के बाद किसानों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस     ||   PM मोदी बोले- हम ईमानदारी से कोशिश करते हैं, झूठे सपने नहीं दिखाते     ||   कुशल भ्रष्टाचार और अक्षम प्रशासन का मॉडल है कांग्रेस-कम्युन‍िस्ट सरकार-PM मोदी     ||   CBI: राकेश अस्थाना केस में द‍िल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई 20 द‍िसंबर तक टली     ||   बैडम‍िंटन खि‍लाड़ी साइना नेहवाल ने पी कश्यप से की शादी     ||   गुलाम नबी आजाद ने जीवन भर कांग्रेस की गुलामी की है: ओवैसी     ||   बाबा रामदेव रांची में खोलेंगे आचार्यकुलम, क्लास 1 से क्लास 4 तक मिलेगी शिक्षा     ||   मैंने महिलाओं व अन्य वर्गों के लिए काम किया, मेरा काम बोलेगा: वसुंधरा राजे     ||

इनेलो से निष्कासित दुष्यंत मिले भाजपा नेता से, राजनीतिक गलियारों में अटकलें तेज

अंग्वाल न्यूज डेस्क
इनेलो से निष्कासित दुष्यंत मिले भाजपा नेता से, राजनीतिक गलियारों में अटकलें तेज

नई दिल्ली। हरियाणा की राजनीति में एक नया तूफान आ सकता है। इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो)से निष्कासित नेता दुष्यंत चौटाला ने भाजपा नेता और मंत्री राव इंद्रजीत से मुलाकात की है। इस मुलाकात के बाद सियासी गलियारों में अटकलों का बाजार गर्म हो गया है। वहीं दूसरी तरफ अभय चौटाला के बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती से मुलाकात की है। बता दें कि इन मुलाकातों के बाद इनेलो के पदाधिकारी, नेतागण चिंतित हैं वहीं भाजपा भी इन समीकरणों के अलग मायने निकाल रही है।

गौरतलब है कि पार्टी की ओर से अनुशासनात्मक कार्रवाई करते हुए ओम प्रकाश चौटाला ने दुष्यंत चौटाला को पार्टी से निष्कासित कर दिया था। वहीं पेरोल पर जेल से बाहर आए उनके बड़े भाई अजय चौटाला भी पूरे आक्रामक दिखाई दे रहे हैं। उधर, देखा जाए तो चौटाला परिवार में अजय सिंह चौटाला और राव इंद्रजीत के बीच वर्षों से पारिवारिक संबंध है। कई बार पार्टी लाइन से हटकर राव इंद्रजीत ओर अजय चौटाला ने खुलकर एक दूसरे की मदद की है।


ये भी पढ़ें - आगामी चुनाव में भाजपा को पटकनी देने के ‘ममता फाॅर्मूला ने दिखाया असर, अन्य राज्यों में हो सकत...

यहां बता दें कि अभय चौटाला इस प्रयास में लगे हुए हैं कि हरियाणा की राजनीति में मचे घमासान के बावजूद बसपा और इनेलो का साथ बना रहे। यदि पार्टी दो फाड़ होती है तो बसपा के लिए भी संकट खड़ा हो जाएगा कि वे मौजूदा हालात में किस तरफ जाए।

Todays Beets: