Friday, April 26, 2019

Breaking News

   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||   हिमाचल प्रदेश: किन्नौर जिले में आया भूकंप, तीव्रता 3.5     ||

महाराष्ट्र में शिक्षकों ने सरकार के सामने रखी अजीबोगरीब मांग, एक जगह तबादला करोे नहीं तो तलाक दिलाओ

अंग्वाल न्यूज डेस्क
महाराष्ट्र में शिक्षकों ने सरकार के सामने रखी अजीबोगरीब मांग, एक जगह तबादला करोे नहीं तो तलाक दिलाओ

मुंबई। महाराष्ट्र में शिक्षकों ने सरकार को एक अजीब स्थिति में लाकर खड़ा दिया है। बताया जा रहा है कि महाराष्ट्र में ऐसे शिक्षक पति-पत्नी की एक बड़ी तादाद है जो सालों से एक-दूसरे से काफी दूर रहकर बच्चों को शिक्षा प्रदान कर रहे हैं। अब इन शिक्षकों ने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर वह उनका तबादला एक जगह नहीं कर सकते हैं तो उनका तलाक करवा दें। शिक्षकों ने इसके लिए सरकार को दिवाली तक का समय दिया है।

गौरतलब है कि महाराष्ट्र सरकार में ऐसा नियम है कि अगर पति पत्नी दोनों ही शिक्षक हैं तो उनका तबादला 30 किलोमीटर के अंदर पड़ने वाले स्कूलों में ही किया जा सकता है। इस सरकारी नियम का इन शिक्षकों के मामले में कोई उपयोग नहीं हो रहा है। इसी का नतीजा है कि आज हजारों शिक्षक पति पत्नी 15 सालों से ज्यादा समय से एक दूसरे से 200 किलोमीटर दूर रहकर बच्चों को शिक्षा दे रहे हैं। 


ये भी पढ़ें- भाजपा पूर्व प्रधानमंत्री को देगी विशेष श्रद्धांजलि, 17 से 25 सितंबर तक मनाएगी सेवा सप्ताह

यहां बता दें कि सालों से एक-दूसरे से दूर रह रहे इन शिक्षकों ने अध्यापकों की संस्था ‘महाराष्ट्र राज्य अंतर जिला पति-पत्नी एकत्रीकरण संघर्ष समिति’ के बैनर तले ग्रामीण विकास मंत्री पंकजा मुंडे से मिलकर अपनी बातें रखी हैं। इन शिक्षकों ने प्रदेश सरकार को चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर वे एक जगह तबादला नहीं कर सकते हैं तो उनका तलाक करवा दें। उन्होंने सरकार को इसके लिए दिवाली तक का समय देते हुए कहा कि इसके बाद वे खुद ही तलाक के लिए आवेदन कर देंगे। 

Todays Beets: