Friday, October 20, 2017

Breaking News

   पटना पहुंचे मोहन भागवत, यज्ञ में भाग लेने जाएंगे आरा, नीतीश भी जाएंगे    ||   अखिलेश को आया चाचा शिवपाल का फोन, कहा- आप अध्यक्ष हैं आपको बधाई    ||   अमेरिका में सभी श्रेणियों में H-1B वीजा के लिए आवश्यक कार्रवाई बहाल    ||   रोहिंग्या पर किया वीडियो पोस्ट, म्यांमार की ब्यूटी क्वीन का ताज छिना    ||   अब गेस्ट टीचरों को लेकर CM केजरीवाल और LG में ठनी    ||   केरल में अमित शाह के बाद योगी की पदयात्रा, राजनीतिक हत्याओं पर लेफ्ट को घेरने की रणनीति    ||   जम्मू कश्मीर के नौगाम में लश्कर कमांडर अबू इस्माइल के साथ मुठभेड़,     ||   राम रहीम मामले पर गौतम का गंभीर प्रहार, कहा- धार्मिक मार्केटिंग का यह एक क्लासिक उदाहरण    ||   ट्राई ने ओवरचार्जिंग के लिए आइडिया पर लगाया 2.9 करोड़ का जुर्माना    ||   मदरसों का 15 अगस्त को ही वीडियोग्राफी क्यों? याचिका दायर, सुनवाई अगले सप्ताह    ||

अब इन बैंकों के कार्ड के जरिए ही कर पाएंगे रेलवे के आॅनलाइन ट्रांजेक्शन, बाकी हुए बैन

अंग्वाल न्यूज डेस्क
अब इन बैंकों के कार्ड के जरिए ही कर पाएंगे रेलवे के आॅनलाइन ट्रांजेक्शन, बाकी हुए बैन

नई दिल्ली। बैंकों और रेलवे के बीच की तल्खी काफी बढ़ गई है। सुविधा शुल्क को लेकर उपजे विवाद के बाद आईआरसीटीसी ने अब कई बैंकों के कार्ड को बैन कर दिया है। बैंकों का कहना है आईआरसीटीसी ने यह कदम इसलिए उठाया है कि वह पूरा सुविधा शुल्क खुद रखना चाहती है। अभी केवल इंडियन ओवरसीज बैंक, कैनरा बैंक, यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया, इंडियन बैंक, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया, एच.डी.एफ.सी बैंक और एक्सिस बैंक के कार्ड के जरिए आईआरसीटीसी पर पेमेंट की जा सकती है। इसके अलावा किसी भी बैंक के डेबिट कार्ड से पेमेंट स्वीकार नहीं किया जाएगा। 

बैंक और रेलवे का मामला नहीं सुलझा

गौरतलब है कि इस साल की शुरुआत में आईआरसीटीसी ने बैंकों से कहा था कि आॅनलाइन टिकटों के ट्रांजेक्शन में आधा हिस्सा रेलवे को दिया जाए। मामले को रेलवे ने बातचीत के जरिए सुलझाने की कोशिश की लेकिन बात सुलझ नहीं पाई। यहां बता दें कि नोटबंदी के बाद आईआरसीटीसी ने सुविधा शुल्क 20 रुपये घटा दिया था। वर्तमान में बैंकों को 1000 रुपये तक के कार्ड ट्रांजेक्शन पर 0.25 फीसदी और 1000 से 2000 रुपये के ट्रांजेक्शन पर 0.5 फीसदी एमडीआर वसूलने की अनुमति है। ज्यादा रकम के ट्रांजेक्शन पर 1 फीसदी तक एमडीआर लगाया जाता है। ये दर नोटबंदी के दौरान रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया द्वारा जारी किए गए अस्थाई दिशानिर्देश के आधार पर तय हैं।


ये भी पढ़ें - उत्तराखंड में जलाशयों के निर्माण में हुई धांधली, सरकार ने दिए हफ्ते भर में रिपोर्ट देने के निर्देश

 

Todays Beets: